DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बदली गाजीपुर की तस्वीर, समागम आज

गाजीपुर और विकास कार्यो को लेकर यहां की तस्वीर बिल्कुल बदल गई है। गाजीपुर की जनता को एकजुट करके रविवार को गाजीपुर समागम किया जाएगा। सीएमएस कानपुर रोड पर आयोजित कार्यक्रम की अध्यक्षता पूर्व कुलपति अच्युतानंद मिश्र करेंगे। मुख्य अतिथि रेल राज्य मंत्री मनोज सिन्हा,विशिष्ठ अतिथि कार्डियोवस्कुलर सर्जर डॉ. एके श्रीवास्तव रहेंगे। इस मौके पर वर्ष 2024 का गाजीपुर कैसा हो? इस पर भी चर्चा की जाएगी। शनिवार को प्रेसवार्ता के दौरान ये जानकारियां गाजीपुर समागम आयोजन समिति के संजय राय, अजीत सिंह और सुनील सिंह ने दी।

संजय राय का कहना है गाजीपुर समागम का उद्देश्य जिले से बाहर रहने वालों को एकत्र करना है। यह पहला कार्यक्रम सूरत व दूसरा मुम्बई में हुआ था। फिर दिल्ली, नोएडा और अब 9 दिसम्बर को लखनऊ में होगा। छह जनवरी 2019 को दिल्ली में फिर से गाजीपुर समागम का आयोजन है। केंद्र सरकार ने उप्र में विकास कार्य किए हैं। एक से दूसरे जिले को जोड़ने वाली सभी सड़को नेशनल हाइवे घोषित किया गया है। इसमें गाजीपुर की दो सड़क जो 50 किलोमीटर है, वह भी नेशनल हाइवे में आ गई है। सुनील सिंह के मुताबिक रेल राज्यमंत्री मनोज सिंह ने प्रदेश में मीटर गेज पूरी तरह से खत्म करके ब्रॉड गेज में बदला गया है। कानपुर रेलखण्ड को ट्रिपल लाइन किया जा रहा है। मुगलसराय जंक्शन को पं. दीन दयाल उपाध्याय जंक्शन किया गया है। गाजीपुर में रेल इंजन मेंटीनेंस कारखाना बनाया गया है। गोमतीनगर स्टेशन को विश्वस्तरीय स्टेशन बनाने के साथ-साथ चारबाग, वाराणसी के कैण्ट स्टेशन व गाजीपुर के कई स्टेशनों को आधुनिकीकरण कराया गया है। सीएसआर के तहत यहां पर हर तीसरे महीने मोबाइल हास्पिटल कैम्प करके मरीजों का इलाज करता है। इस दौरान दयाशंकर सिंह, सुनील सिंह, अजीत सिंह, अभय प्रताप सिंह, सुधाकर कुशवाहा, वैभव सिंह, सत्येंद्र राय समेत काफी लोग मौजूद रहे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:assinment