DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

  एशियाई खेल 2018 : सुधा सिंह की कामयाबी पर रायबरेली में जश्न, घर पर बधाइयों का तांता

जिले के खेल प्रेमियों और खिलाड़ियों की दुआ आखिर कुबूल हुई। जकार्ता इंडोनेशिया में चल रहे एशियन गेम्स में एथलीट सुधा सिंह ने 3000 मीटर स्टीपल चेज इवेंट में सिल्वर मेडल जीतकर रायबरेली का मान एक बार फिर बढ़ाया। सुधा की इस कामयाबी पर जिले के खेल प्रेमी और खिलाड़ी जश्न में डूब गए।
 एशियन गेम्स में भारतीय समय के अनुसार शाम 5:45 बजे सुधा सिंह कि 3000 मीटर की स्टीपलचेज़ प्रतियोगिता हुई। जैसे ही सुधा के सिल्वर मेडल जीतने की खबर आई जिलेभर में उल्लास की लहर दौड़ गई। खिलाड़ियों और खेल प्रेमियों ने इस कामयाबी के लिए सुधा सिंह को बधाइयों का तांता लगा दिया।
 हालांकि शुभचिंतकों और खेल प्रेमियों ने सुधा सिंह से गोल्ड मेडल जीतने की उम्मीद लगा रखी थी। इसके लिए यहां कई जगह सुधा सिंह की कामयाबी के लिए मंदिरों में विशेष पूजन अर्चन और प्रार्थना के दौर भी चलें।
हनुमान मंदिर पर हुआ पूजन हवन
भारतीय टीम की तरफ से प्रतिभाग कर रही एथलीट सुधा सिंह की जीत के लिए सोमवार को खेल प्रेमियों और खिलाड़ियों ने साई हॉस्टल स्थित हनुमान मंदिर पर पूजन-हवन के बाद विशेष प्रार्थना की। साई हॉस्टल यूथ एक्टिविटी फोरम एवं जिला कबड्डी एसोसिएशन की तरफ से आयोजित विशेष प्रार्थना सभा में पंडित संतोष शास्त्री ने मंत्र उच्चारण के बीच पूजन-अर्चन संपन्न कराया। यजमान की भूमिका साईं हॉस्टल के मैनेजर एसके राय और जेबी सिंह ने निभाई। 

सुधा के घर में छाई खुशी
एशियन गेम्स में 3000 मीटर स्टीपलचेज में सिल्वर मेडल जीतने की खबर आते ही सुधा सिंह के घर में खुशी छा गई। मां शिवकुमारी सिंह ने घरवालों का मुंह मीठा कराया। मोहल्ले और शहर के सैकड़ों लोग सुधा के घर पर पहुंच कर बधाई देने लगे। पिता हरि नारायण सिंह और भाई प्रवेश सिंह ने सभी का आभार जताया। सुधा के पिता ने कहा कि इस कामयाबी में सुधा की मेहनत के साथ साथ जिले भर के लोगों की दुआएं और प्रार्थनाएं भी शामिल है।
 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Asian Games 2018: Celebrating Sudha Singh Success at Rae Bareli Happiness at Home