DA Image
19 जनवरी, 2021|12:51|IST

अगली स्टोरी

एंटी रोमियो अभियान के तहत 35 लाख से अधिक को चेतावनी

default image

अब तक 7351 मुकदमे दर्ज कर 11564 गिरफ्तार किए गए --एंटी रोमियो अभियान के तहत 35 लाख से अधिक को चेतावनीप्रमुख संवाददाता-राज्य मुख्यालय अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश कुमार अवस्थी ने पुलिस अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि महिलाओं के खिलाफ होने वाले अपराध पर अंकुश के लिए चेकिंग के वक्त बाडी वार्न कैमरों का इस्तेमाल किया जाए। पुलिस ऐसे इलाके में महिलाओं और छात्राओं से संवाद करे, जहां शिकायतें मिलती हैं। साथ ही त्वरित कार्रवाई कर ऐसे अपराधियों को सबक सिखाए। श्री अवस्थी गुरुवार को लोकभवन में पुलिस अधिकारियों के साथ उच्चस्तरीय बैठक में एंटी रोमियो स्क्वाएड की समीक्षा कर रहे थे। अपर मुख्य सचिव गृह ने कहा कि जनमानस में पुलिस की बेहतर छवि का प्रदर्शन किया जाए ताकि महिलाओं व बालिकाओं में पुलिस के प्रति और अधिक भरोसा भी बढ़े। उन्होंने बताया कि महिलाओं एवं बालिकाओं के साथ छेड़छाड़ की घटनाओं पर पूरी तरह अंकुश लगाने के उद्देश्य से हर जिले में एंटी रोमियो स्क्वायड को और अधिक सक्रिय किया गया है। प्रदेश भर में स्कूल-कॉलेज के अलावा अन्य सार्वजनिक स्थलों पर अब तक 83 लाख से अधिक व्यक्तियों की चेंकिग की गई। इनमें से 35 लाख से अधिक को चेतावनी देकर छोड़ा गया। साथ ही 7351 के विरुद्ध मुकदमा दर्ज करते हुए 11564 व्यक्तियों की गिरफ्तारी की गई। चेकिंग में बाडी वार्न कैमरों का प्रयोग होडीजीपी एचसी अवस्थी ने भी पुलिस अधिकारियों को इस संबंध में सख्त दिशा-निर्देश जारी किया है। उन्होंने कहा है कि महिलाओं व बच्चियों के साथ घटित होने वाले अपराधों का तत्काल पंजीकरण करते हुए नामित अभियुक्तों की गिरफ्तारी की जाए तथा गुणवत्तापरक विवेचनात्मक कार्रवाई समय से पूरी कराई जाए। उन्होंने एंटी रोमियो स्क्वायड को अनवरत अभियान चलाने और इसमें महिला पुलिस कर्मियों को सक्रिय भूमिका देने का भी निर्देश दिया है। शिकायत पेटिका लगाने के निर्देश डीजीपी ने महिला विद्यालयों में शिकायत पेटिका लगाने का भी निर्देश दिया है। उन्होंने कहा है कि थाना प्रभारी अपनी टीम के साथ समय व स्थान बदल-बदल कर पैदल गश्त करें और महिला पुलिसकर्मियों के माध्यम से ऐसे स्थानों पर आने जाने वाली महिलाओं व बच्चियों से वार्ता करें। बालिका विद्यालयों व कॉलेजों के प्रधानाचार्यों व अध्यापकों के साथ भी समय-समय पर संवाद स्थापित किया जाए। उन्होंने कहा है कि थानों पर महिला डेस्क की व्यवस्था के साथ महिलाओं की सजगता के लिए महिला संतरी की नियुक्ति की जाए और सभी जिलें में पुलिस कप्तान कार्यालय में महिला सहायता केन्द्र की व्यवस्था की जाए।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Anti-Romeo campaign warns over 3 5 million