ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेश लखनऊलोहिया संस्थान में एंटी रेबीज क्लीनिक शुरू

लोहिया संस्थान में एंटी रेबीज क्लीनिक शुरू

लखनऊ, कार्यालय संवाददाता लोहिया संस्थान में सोमवार को एंटी रेबीज क्लीनिक शुरू हुई। संस्थान...

लोहिया संस्थान में एंटी रेबीज क्लीनिक शुरू
हिन्दुस्तान टीम,लखनऊMon, 27 May 2024 08:10 PM
ऐप पर पढ़ें

लखनऊ, कार्यालय संवाददाता

लोहिया संस्थान में सोमवार को एंटी रेबीज क्लीनिक शुरू हुई। संस्थान निदेशक डॉ. सीएम सिंह ने क्लीनिक का उद्घाटन किया है। उन्होंने बताया कि क्लीनिक में कुत्ता, बंदर व अन्य जानवरों के काटने वाले पीड़ितों को ओपीडी परामर्श और टीका लगाया जाएगा। निदेशक ने कहाकि हर 9 मिनट में रेबीज़ के कारण एक मौत होती है। इससे बचाव के लिए किसी जानवर के काटने के बाद घाव को अच्छे से धोना, समय पर परामर्श और टीकाकरण जरूर कराएं। यह क्लीनिक सामुदायिक चिकित्सा विभाग के तहत संचालित होगी। सीएमएस डॉ. एके सिंह, डीन डॉ. प्रद्युम्न सिंह, रजिस्ट्रार डॉ. ज्योत्सना अग्रवाल, सामुदायिक चिकित्सा विभाग के प्रमुख डॉ. एसडी कांडपाल व एंटी रेबीज क्लीनिक के नोडल डॉ. मनीष कुमार सिंह ने रेबीज से बचाव, लक्षण व टीकाकरण के बारे में जानकारी दी।

साल भर में 25 लाख लोगों को काटा

संचारी निदेशालय के संयुक्त निदेशक डॉ. पंकज सक्सेना ने बताया कि वर्ष 2023 में प्रदेश के 45 लाख लोगों को अलग-अलग जानवरों के काटा है। इसमें 38.29 लाख लोगों को सिर्फ कुत्ते ने काटा है। इनमें अधिकांश आवारा कुत्ते थे। चार की मौत रेबीज से हुई है। रेबीज मुक्त शहर पहल हर एक करोड़ आबादी के लिए कुत्तों को टीकाकरण, जनसंख्या नियंत्रण, आवास प्रबंधन प्रदान करने की रणनीतियों के साथ लक्ष्य को प्राप्त कर रही है। नगर निगम के पशु कल्याण अधिकारी डॉ. अभिनव वर्मा ने बताया कि मनुष्यों में रेबीज का 99% संचरण कुत्तों से होता है। शहरी स्थानीय निकाय के अतिरिक्त निदेशक डॉ. अंसारी ने कहा कि वर्ष 2030 तक 70% कुत्तों के टीकाकरण का लक्ष्य है। इस मौके पर लोहिया संस्थान के डॉ. एपी जैन, मीडिया प्रवक्ता मीना जौहरी, पीआरओ निमिषा सोनकर आदि मौजूद रहे।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।