DA Image
16 जनवरी, 2021|8:33|IST

अगली स्टोरी

मिशन शक्ति: जैविक खाद, पशुपालन कर किया आमदनी में इजाफा

 mission  strength  compost

1 / 2मिशन शक्ति: जैविक खाद, पशुपालन कर किया आमदनी में इजाफा

mission  strength  compost

2 / 2 मिशन शक्ति: जैविक खाद, पशुपालन कर किया आमदनी में इजाफा

PreviousNext

मोहनलालगंज के शाह मोहम्मदपुर अपैया की सुमन को शुरू से ही घर-परिवार के लिए कुछ करने की चाहत थी। एनआरएलएम के तहत जब समूह के माध्यम से चार पैसे अर्जित करने का अवसर मिला तो उन्होंने पति की रजामंदी लेकर जय माँ वैष्णो स्वयं सहायता समूह का संचालन 10 महिलाओं के साथ शुरू किया। सुमन बताती हैं कि उन्होंने जैविक खाद के अलावा पशुपालन और सब्जी की खेती का काम शुरू किया। फायदा सामने दिखने लगा। आमदनी देखते हुए गांव में पांच और समूह बन गए। समूह से जुड़कर दर्जनों महिलाएं आत्मनिर्भर बन रही हैं। 

सब्जी उत्पादन कर बढ़ाई परिवार की आय 
निगोहां के अकबरपुर बेनीगंज की शशि साहू, बालाजी जी स्वयं सहायता समूह की शुरुआत करके गांव की तमाम महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने में जुटी हैं। शशि ने समूह के जरिए सब्जी की खेती की ओर कदम बढ़ाए। वह बताती हैं कि पति जय नारायण, धान व गेहूं जैसी फसलों की ही खेती करते थे। वर्षों से आमदनी स्थिर थी। उन्होंने पति के काम में ही, अपना काम शुरू किया। यानी खेत के एक हिस्से में सब्जी उत्पादन में लग गई। इसके लिए उन्हें प्रशिक्षण भी मिला। बेहतर परिणाम सामने आए। वह बताती हैं कि परिवार की आमदनी में इजाफा हुआ। 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:animal husbandry increased income