DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अमेठी : नए माडल स्कूलों में अब तक नहीं हुआ शिक्षकों का चयन

अमेठी जिले में परिषदीय स्कूलों में अंग्रेजी माध्यम की शिक्षा देने के लिए जिले में 83 नए माडल स्कूलों को चयनित तो कर लिया गया। लेकिन यहां अब तक शिक्षकों की पर्याप्त व्यवस्था नहीं हो सकी है। ऐसे में स्कूलों के संचालन के पीछे शासन की मंशा फलीभूत नहीं हो पा रही है।

परिषदीय स्कूलों में अंग्रेजी माध्यम की शिक्षा उपलब्ध कराने के लिए शासन ने माडल स्कूल योजना शुरू की है। इस साल जिले के सभी 13 विकास खंडों से 83 स्कूलों का चयन माडल स्कूलों के रूप में किया गया है। नया अच्छी सत्र 1 अप्रैल से ही शुरू हो गया है। लेकिन नाम चयनित होने के बाद भी इन स्कूलों में नए स्तर से शिक्षकों की तैनाती नहीं हो सकी है। मानक के अनुसार एक माडल स्कूल में कम से कम 4 शिक्षक होने चाहिए। इन शिक्षकों के लिए इंटरमीडिएट स्तर अंग्रेजी विषय होना अनिवार्य है। बीएसए ने खंड शिक्षा अधिकारियों को पत्र जारी कर 17 तारीख तक उनके क्षेत्र में माडल स्कूलों में अध्यापन के लिए आए हुए आवेदनों की सूचना तलब की थी। बावजूद इसके अभी तक किसी भी ब्लाक से सूचना नहीं भेजी गई। जिस पर आवेदनों की तिथि 23 तारीख तक बढ़ा दी गई है।

वहीं विभाग माडल स्कूलों में शिक्षकों के चयन के लिए परीक्षा का आयोजन अब तक नहीं कर सका है। ऐसे में कई माडल स्कूल ऐसे हैं जहां शिक्षकों की पर्याप्त व्यवस्था नहीं है। पर्याप्त शिक्षकों के ना होने से माडल स्कूलों में नामांकन भी प्रभावित हो रहा है।

इस संबंध में जिला प्रशिक्षण एवं गुणवत्ता समन्वयक डा. घनश्याम द्विवेदी ने बताया कि औसत रूप से अधिक शिक्षकों वाले स्कूलों को ही माडल स्कूल के रूप में चयनित किया जाता है। आवेदन की तिथि बढ़ा दी गई है। जल्द ही आवेदन मिलने के बाद परीक्षा का आयोजन करा कर सभी स्कूलों में शिक्षकों की
तैनाती की जाएगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Amethi: New Model schools have not yet been selected for teachers