DA Image
25 फरवरी, 2020|2:21|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बिजली के मामले में स्मार्ट बनाए जाएंगे सभी मंडल मुख्यालय: श्रीकांत

default image

ऊर्जा एवं अतिरिक्त ऊर्जा स्रोत मंत्री श्रीकान्त शर्मा ने निर्देश दिए कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की मंशा के अनुरूप सभी मंडल मुख्यालयों को ऊर्जा के मामले में स्मार्ट बनाया जाना है। इस दिशा में काम तेज किए जाएं। इसके लिए राजधानी लखनऊ में तैनात अधिकारियों को एक-एक फीडर का इंचार्ज बनाने को कहा है।

मंत्री ने शनिवार को योजना भवन में राजधानी लखनऊ की विद्युत व्यवस्था की समीक्षा की। उन्होंने कहा कि राजधानी के लाइनलॉस को सिंगल डिजिट में ले आने, निर्बाध विद्युत आपूर्ति करने तथा उपभोक्ता सेवाओं को दुरुस्त करने में किसी प्रकार की कोताही स्वीकार नहीं की जाएगी। 31 मार्च सभी के लिए डेडलाइन है। विभाग सभी अधिकारियों की जवाबदेही सुनिश्चित करने के लिए परफार्मेंस ऑडिट भी करवाएगा। उन्होंने कहा कि छूटे हुए काम 31 मार्च तक जरूर पूरे कर लिए जाएं। पेट्रोलिंग बढ़ाई जाए जिससे उपभोक्ताओं को निर्बाध बिजली और पर्याप्त बिजली सप्लाई सुनिश्चित हो।

झटपट और निवेश मित्र पोर्टल के आवेदन समय से निपटाएं

मंत्री ने निर्देशित किया कि झटपट पोर्टल, निवेश मित्र पोर्टल पर कनेक्शन के आवेदन तय समय सीमा के भीतर निस्तारित किए जाएं। उपभोक्ताओं को कनेक्शन के लिये इधर उधर भटकना न पड़े। विभाग 'उपभोक्ता देवो भवः' की नीति पर काम कर रहा है। किसी भी दशा में उपभोक्ताओं की समस्याओं का व्यावहारिक निराकरण करना है। उत्पीड़न की शिकायत मिली तो कड़ी कार्रवाई होगी। उन्होंने कहा कि त्रुटिपूर्ण बिलों की शिकायतें मिल रहीं हैं, बिलिंग की प्रगति भी धीमी मिलने पर नाराजगी जताई। उपभोक्ता को सही बिल मिलने चाहिए। बैठक में प्रमुख सचिव ऊर्जा अरविंद कुमार, एमडी यूपीपीसीएल एम देवराज, एमडी मध्यांचल एसपी गंगवार समेत अन्य अधिकारी उपस्थित रहे।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:All divisional headquarters will be made smart in terms of electricity Shrikant