अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मार्च तक सभी सहकारी बैंक होंगे कम्प्यूटरीकृत:सहकारिता मंत्री

मार्च तक राज्य में सभी जिला सहकारी बैंकों को कम्प्यूटरीकृत कर दिया जाएगा। नाबार्ड के सहयोग से राज्य सरकार सभी प्राथमिक कृषि सहकारी समितियों के भी कम्प्यूटरीकरण करने के लिए सभी जरूरी तैयारी कर रही है। यह बातें सहकारिता मंत्री मुकुट बिहारी वर्मा ने एक राष्ट्रीय सेमिनार में कही।

बैंकर ग्रामीण विकास संस्थान नाबार्ड और सहकारी संस्थाओं के केन्द्रों के तत्वावधान में एक राष्ट्रीय सेमिनार का आयोजन किया गया। उद्घाटन भाषण में सहकारिता मंत्री मुकुट बिहारी वर्मा ने कहा कि प्राथमिक समितियों को नए व्यवसाय के बारे में भी विचार करना चाहिए। यही नहीं सहकारी ऋण संरचना के माध्यम से दीर्घकालिक कृषि क्षेत्र ऋण को 10 फीसदी से बढ़ाकर 30 फीसदी तक करने की जरूरत है। बर्ड के निदेशक डॉ. डीवी देशपांडे ने कहा कि दो दिवसीय सेमिनार में 15 राज्यों के सहकारिता संस्थाएं भाग ले रही हैं। वहीं नाबार्ड के अध्यक्ष डॉ. हर्ष कुमार भनवाला ने कहा कि लघु और सीमांत किसानों को सहकारिता ऋण तंत्र से जोड़े रखने के लिए अभी और बहुत करने की जरूरत है। तकनीकी सत्र में कृषि सहकारी समितियों को सेवा केन्द्रों के रूप में विकसित करने की जरूरत बताई गई। जिसमें ऋण मूल्य निर्धारण और प्रबंधन पर विचार किया गया। सेमिनार के दूसरे दिन सूचना प्रौद्योगिकी और एनपीए प्रबंधन पर चर्चा होगी। सेमिनार में उप प्रबंध निदेशक आर अमलोरपवनाथन समेत अन्य लोगों ने अपने विचार व्यक्त किए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:All cooperative banks will be computerized by March: Cooperative Minister