अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

रिसाइकिल के बाद भी बनेंगे 50 माइक्रॉन से ऊपर के उत्पाद

रिसाइकिल के बाद भी बनेंगे 50 माइक्रॉन से ऊपर के उत्पाद

50 माइक्रॉन से नीचे के उत्पाद को रिसाइकिल के बाद दोबारा बनने वाले उत्पादों को भी 50 माइक्रॉन से नीचे नहीं बनाया जा सकता है। रिसाइकलिंग के बाद बने उत्पाद की मोटाई 50 माइक्रॉन से ऊपर होनी चाहिए। 50 माइक्रॉन से नीचे न तो कैरी बैग बनाए जाएंगे न अन्य सामान। जिलाधिकारी कौशलराज शर्मा ने शुक्रवार को प्लास्टिक उत्पाद निर्माताओं को यह बात साफ कर दी।

प्लास्टिक पॉलीथिन कैरी बैग व प्लास्टिक मैन्यूफैक्चरिंग एशोसियेशन के पदाधिकारियों के साथ बैठक में उन्होंने कहा कि 50 माइक्रॉन से नीचे के कैरी बैग ही नहीं कोई अन्य प्लास्टिक उत्पाद भी नहीं बनाए जाएंगे। जिलाधिकारी ने सभी निर्माताओं से कहा कि अब उन्हें पर्यावरण विभाग में अपना रजिस्ट्रेशन जल्द से जल्द कराना होगा। 15 जुलाई, से 50 माइक्रॉन से नीचे प्लास्टिक पॉलीथिन के उत्पादन व बिक्री पर रोक लग जाएगी।

सभी निर्माण इकाइयों की होगी जांच

राजधानी की परिधि में प्लास्टिक के कैरी बैंग या अन्य उत्पाद बनाने वाली फैक्ट्रियों की जांच की जाएगी। जांच के दौरान यह देखा जाएगा कि उनके यहां 50 माइक्रॉन से नीचे के उत्पाद या पॉलीथिन तो नहीं बनाई जा रही है। जांच के लिए विभागी अधिकारियों की टीम बनाई गई है।

जिलाधिकारी ने कहा कि निर्माताओं को अपने उत्पादों के नमूने भी उपलब्ध कराना होगा। जिसके आधार पर तय मानकों के तहत उत्पाद की जांच की जा सके। इसके साथ ही उसके आधार पर कार्रवाई भी होगी। बैठक में मौजूद प्लास्टिक निर्माताओं ने प्लास्टिक उत्पाद निर्माण करने वाली यूनिटों की पूरी सूची शनिवार तक प्रशासन को उपलब्ध कराने को कहा।

प्रतिबंधों का पालन करेंगे निर्माता

एसोसिएशन के पदाधिकारियों ने जिला प्रशासन को भरोसा दिलाया कि वह सभी प्रतिबंधों का पालन शत प्रतिशत करेंगे। सरकार के सभी दिशा निर्देशों को अपनी इकाईयों पर लागू करेंगे। एसोसिएशन ने आम लोगों को जागरूक करने के लिए प्रतिबन्धित प्लास्टिक के विकल्पों के निर्माण और बाजारों में निशुल्क वितरण पर भी अपनी रजामंदी दी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:after recycling plactic product should be above 50 micron