DA Image
28 जनवरी, 2021|5:43|IST

अगली स्टोरी

55 वर्षों पुराना दंगल नहीं हुआ स्व. लाल जी टण्डन को दी गई श्रद्धांजलि

default image

चौक का गोमती प्रसाद अखाड़ा-प्रशिक्षकों ने बच्चों को दांव सिखाए, सुंदरकाण्ड का पाठ भी हुआलखनऊ। वरिष्ठ संवाददातालखनऊ के पूर्व सांसद स्व. लाल जी टण्डन के निधन पर नागपंचमी पर 55 साल से लगातार चले आ रहे इनामी दंगल में कुश्तियां नहीं हुईं। केवल प्रशिक्षकों की ओर से युवाओं और बच्चों को कुछ दांव सिखाकर पर्व की औपचारिकता निभाई गई। गोमती प्रसाद अखाड़ा समिति चौक के संयोजक और नामित पार्षद अनुराग मिश्र अन्नू ने बताया कि सुबह संजीव झींगरन और संकेत मिश्र के सुंदरकांड से कार्यक्रम की शुरुआत हुई। इसके बाद स्व. लाल जी टण्डन के चित्र पर सभी ने श्रद्धासुमन अर्पित किये। श्रद्धांजलि सभा में मुख्य रूप से भाजपा के प्रदेश महामंत्री विद्यासागर सोनकर उपस्थित रहे। उनकी ओर से प्रशिक्षकों को पुरस्कार व बच्चों को प्रोत्साहन राशि दी गई। महापौर संयुक्ता भाटिया ने लोगों को सैनिटाइजर और मास्क बांटे। पंडित कमला शंकर अवस्थी, किसान अवस्थी, रेलवे के पहलवान एनके शर्मा, सीतापुर के पहलवान मृगेन्द्र सिंह, पंडित नीरज अवस्थी मौजूद रहे। प्रशिक्षकों में काके चोपड़ा, गोपाल साहू, मथुरा यादव, संजीव तिवारी, कपिल साहू, सर्वेश कश्यप को सम्मानित किया गया।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:55 years old riot did not happen Tribute paid to Lal ji Tandon