DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

50 प्रतिशत सफाई कर्मचारी गैर हाजिर मिले

default image

हर वार्ड में सफाई कर्मचारी स्वीकृत से कम मिले

लखनऊ। प्रमुख संवाददाता

शहर में साफ-सफाई का जिम्मा संभाल रहीं कार्यदायी संस्थओं की मनमानी की रविवार को एक बार फिर पोल खुली है। सभी वार्डों में एक साथ उपस्थिति जांची गई तो 50 प्रतिशत तक कर्मचारी गैर हाजिर मिले। इन संस्थाओं को ब्लैक लिस्ट करने की तैयारी हो रही है।

नगर आयुक्त के निर्देश पर हुई जांच में सबसे ज्यादा गैरहाजिरी रवीन्द्रपल्ली वार्ड में मिली। यहां 74 कर्मचारी स्वीकृत हैं लेकिन मौके पर महज 34 कर्मचारी ही उपस्थित मिले। यहां पर सफाई का जिम्मा रमन सिक्योरिटी को दिया गया है। इस संस्था के काम पर कई बार उंगली उठ चुकी है। पार्षद अरविंद यादव भी कई बार शिकायत कर चुके हैं। वार्ड में न तो सफाई हो रही है और न कूड़ा उठ रहा है। नालियां भी बजबजा रही हैं। संस्था व नगर निगम के अधिकारियों से शिकायत के बाद भी कोई सुनवाई हो रही है। कर्मचारियों को समय से वेतन भी नहीं मिल रहा है। कई बार काम बंद कर पार्षद व अधिकारियों का घेराव कर चुके हैं। इसके बाद भी अधिकारियों की मेहरबानी से संस्था की मनमानी जारी है।

सभी वार्डों में कम मिले कर्मचारी

यही हाल अन्य वार्डों का रहा। रफी अहमद किदवई वार्ड में स्वीकृत 155 कर्मचारियों में 62 अनुपस्थित, गोमती नगर 120 में 19 अनुपस्थित, निशातगंज 53 में 12 अनुपस्थित, राजीव गांधी द्वितीय 111 में 6, चिनहट प्रथम में 100 में 23, चिनहट द्वितीय में 186 में 32, गुरु गोविंद सिंह वार्ड में 35 में 5, केसरी खेड़ा वार्ड में 37 में 5 कर्मचारी गैर हाजिर मिले हैं। इसी तरह अन्य सभी वार्डों में स्वीकृत कर्मचारियों से कम की उपस्थिति मौके पर मिली है।

------

लगभग 11 सौ कर्मचारी गैर हाजिर मिले हैं। कुछ वार्डोँ में ज्यादा गड़बड़ी मिली है। उपस्थिति निरीक्षण की रिपोर्ट आने के बाद कार्रवाई सुनिश्चित होगी। भुगतान में कटौती के साथ संस्थाओं को ब्लैक लिस्ट भी किया जाएगा।

डॉ. इन्द्रमणि त्रिपाठी, नगर आयुक्त।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:50 percent sanitation workers found non-spot