DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जमीन विवादों के निस्तारण के लिए 3418 टीमें गठित

- जमीन संबंधी विवादों के निस्तारण में श्रावस्ती माडल अपनाया जाए

प्रमुख संवाददाता- राज्य मुख्यालय

राजस्व परिषद ने जमीन संबंधी विवादों को निस्तारित करने के लिए 3418 टीमें बनाई हैं। प्रत्येक टीम में राजस्व निरीक्षक, नायब तहसीलदार, तहसीलदार, पुलिस उप निरीक्षक, निरीक्षक, थानाध्यक्ष तथा चार लेखपाल के साथ पुलिस वाले हैं। राजस्व परिषद के अध्यक्ष प्रवीर कुमार ने बुधवार को मंडलायुक्तों के साथ वीडियो कांफ्रेंसिंग कर जमीन संबंधी विवादों को श्रावस्ती माडल पर निस्तारित करने का निर्देश दिया।

प्रदेश में जमीन संबंधी विवाद काफी संख्या में लटके हुए हैं। श्रावस्ती जिले में अभियान चलाकर जमीन संबंधी विवादों का निस्तारण किया गया है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने निर्देश दिया है कि जमीन संबंधी विवादों का निस्तारण अभियान चलाकर किया जाए। राजस्व परिषद के अध्यक्ष ने इसके आधार पर मंडलायुक्तों के साथ वीडियो कांफ्रेंसिंग की। उन्होंने मंडलायुक्तों को बताया कि प्रदेश के 75 जिलों की 350 तहसीलों में जमीन संबंधी विवादों के निस्तारण के लिए राजस्व व पुलिस अधिकारियों की संयुक्त टीमें बनाई गई हैं।

उन्होंने कहा है कि जमीन संबंधी विवादों के निस्तारण के लिए टीमें गांवों में जाएंगी। राजस्व परिषद ने इसके लिए कैलेंडर जारी कर दिया है। विशेष अभियान 31 मार्च 2018 तक चलाया जाएगा। अभियान के दौरान बीते मंगलवार को 2310 गांवों में अभियान चलाकर 8093 विवादों का निस्तारण किया जा चुका है। उन्होंने कहा है कि विशेष अभियान के प्रगति की मंडलायुक्त, डीएम व राजस्व परिषद के साथ शासन स्तर पर नियमित समीक्षा की जाएगी। अभियान में उत्कृष्ट काम करने वालों को पुरस्कार दिया जाएगा तथा शिथिलिता बरतने वाले अधिकारियों व कर्मियों के खिलाफ दंडात्मक कार्रवाई की जाएगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: 3418 teams constituted for disposal of land disputes