Wednesday, January 19, 2022
हमें फॉलो करें :

मल्टीमीडिया

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ उत्तर प्रदेश लखनऊ160 किमी. की रफ्तार से दौड़ेंगी वंदे भारत एक्सप्रेस

160 किमी. की रफ्तार से दौड़ेंगी वंदे भारत एक्सप्रेस

हिन्दुस्तान टीम,लखनऊNewswrap
Fri, 03 Dec 2021 07:15 PM
160 किमी. की रफ्तार से दौड़ेंगी वंदे भारत एक्सप्रेस

हेडिंग

1

अप्रैल में ट्रैक पर दौड़ेगी

पहली वंदे भारत ट्रेन

या

2.

वंदेभारत के पहले सेट का

इसी महीने होगा परीक्षण

सफर में राहत

अप्रैल 2022 में ट्रैक पर आ जाएगी पहली वंदे भारत ट्रेन

200 की रफ्तार में ट्रेन दौड़ने के लिए डेडिकेटेड टेस्ट ट्रैक बनेगा

75 शहरों में 160 की रफ्तार से दौड़ेंगी 44 ट्रेनें

इसी महीने दिल्ली से वाराणसी रूट पर होगा वंदे भारत ट्रेन का परीक्षण

आरडीएसओ के महानिदेशक संजीव भूटानी ने गिनाईं उपलब्धियां

लखनऊ। कार्यालय संवाददाता

वह दिन दूर नहीं जब आप 160 की रफ्तार से चलने वाली वंदे भारत ट्रेन सेट में सफर कर सकेंगे। इसके लिए आरडीएसओ मिशन रफ्तार पर तेजी से काम कर रहा है। आरडीएसओ में वंदे भारत ट्रेन सेट (बोगियां) की डिजाइन तैयार की गई है जिसका परीक्षण इसी महीने दिल्ली से वाराणसी रूट पर होगा। पहली ट्रेन अप्रैल 2022 से पटरी पर दौड़ने लगेगी। इस तरह के 44 ट्रेन सेट बनाए जाएंगे। ये ट्रेन देश के 75 शहरों के बीच 160 की रफ्तार से दौड़ेंगी।

अनुसंधान अभिकल्प एवं मानक संगठन (आरडीएसओ) के महानिदेशक संजीव भूटानी ने शुक्रवार को बताया कि मिशन रफ्तार के अंतर्गत बोगियों से लेकर इंजनों तक को अत्याधुनिक बनाने पर काम चल रहा है। एलएचबी बोगियों में झटके लगने की समस्या से यात्रियों को छुटकारा दिलाने पर काम किया जा रहा है। साथ ही ट्रैक पर आने वाले जानवरों को रोकने तथा उससे होने वाले हादसों को रोकने के लिए आईआईटी से सहयोग मांगा गया है।

इन परियोजनाओं पर तेजी से हो रहा काम

जानवरों को ट्रैक पर आने से कैसे रोका जा सकता है और रेल फ्रैक्चर रोकने के लिए प्रोजेक्ट पर रिसर्च हो रहा है। ऐसी डिवाइस पर रिसर्च किया जा रहा है जो ट्रैक के फ्रैक्चर की सूचना तत्काल रेलवे प्रशासन को दे देगा। ट्रेन व बोगियों के परीक्षण के लिए देश का पहला डेडिकेटेड टेस्ट ट्रैक भी बनेगा, जो उत्तर पश्चिम रेलवे में होगा, इसमें दो सौ किमी प्रति घंटे की रफ्तार से ट्रेनों का ट्रायल किया जा सकेगा। जनरल बोगियों को एसी युक्त बनाने पर भी मंथन किया जा रहा है। कार्यक्रम में आरडीएसओ के कार्यकारी निदेशक आशीष अग्रवाल सहित अन्य अधिकारी भी उपस्थित रहे।

epaper
सब्सक्राइब करें हिन्दुस्तान का डेली न्यूज़लेटर

संबंधित खबरें