अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

शहरों के बुनियादी विकास पर 15000 करोड़ खर्च होंगे

- अंत्येष्टि स्थलों का सुधार कराया जाएगा

प्रमुख संवाददाता- राज्य मुख्यालय

राज्य सरकार शहरों के बुनियादी विकास पर करीब 15,000 करोड़ रुपये खर्च करेगी। नगर विकास विभाग ने वित्तीय वर्ष 2018-19 के लिए बजटीय प्रस्ताव बनाते हुए कैबिनेट को भेज दिया है। राज्य सरकार का सारा ध्यान शहरों में बेहतर पेयजल के साथ सफाई व्यवस्था सुनिश्चित कराना है। इसके साथ अंत्येष्टि स्थलों का सुधार कराया जाएगा।

शहरों में बेहतर नागरिक सुविधा देने की जिम्मेदारी निकायों के पास है। निकाय वैसे तो स्वायत्तशासी संस्था हैं, लेकिन राज्य सरकार उन्हें लोगों को बेहतर सुविधा देने के लिए बजट देती है। नगर विकास विभाग ने वित्तीय वर्ष 2018-19 के लिए करीब 15,000 करोड़ रुपये बजट की मांग की है। नगर विकास विभाग का मानना है कि इतने बजट की व्यवस्था होने के बाद शहरों में विकास को नई रफ्तार मिलेगी।

नगर विकास विभाग ने शहरों में सफाई व्यवस्था के लिए विशेष प्रावधान किया है। इसके लिए जरूरत के आधार पर सफाई मशीनें खरीदी जाएंगी। नाला, नाली व सीवर निर्माण पर विशेष ध्यान दिया जाएगा। घरों का सीवर नालों में गिरने से रोकने के लिए कनेक्शन देने का अभियान चलाया जाएगा। पार्कों का सौंदर्यीकरण कराया जाएगा। शहरों में संक्रामक रोगों की रोकथाम के लिए जरूरी इंतजाम किए जाएंगे।

इसके साथ ही शहरों में बने अंत्येष्टि स्थालों का सुधार कराया जाएगा। इस पर करीब 200 करोड़ रुपये खर्च किए जाने की योजना तैयार की गई है। समाजवादी सरकार में शुरू की गई इस योजना को बीच में बंद कर दिया गया था, अब इसे नए सिरे से शुरू किया जाएगा। प्रत्येक अंत्येष्टि स्थलों पर मृत्यु पंजीकरण की व्यवस्था की जाएगी, जिससे लोगों को इधर-उधर चक्कर न लगाने पड़े।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: 15000 crores will be spent on basic development of cities