DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

हनुमान सेतु से निकली कलश यात्रा गूंजा राधे राधे

‘सनातन गोमती महोत्सव में भागवत कथा शुरुलखनऊ। निज संवाददाता‘कान्हा बंशी बजाई राधा दौडे चली आई..., गीत के स्वर हनुमान सेतु के आस-पास सड़कों पर जब गूंजे तो हर कोई कान्हा का दिवाना हो गया और सभी झूम झूमकर नाचने लगे। यह नजारा सनातन महासभा की ओर से गोमतीतट पर चल रहे ‘सनातन गोमती महोत्सव में सोमवार से शुरु हुई भागवत कथा से पूर्व कलश यात्रा में देखने को मिला। बैण्ड, ऊंट, रथ व सैकड़ों श्रद्धालुओं द्वारा ‘‘राधे राधे जयश्री राधे के जयकारे संग कलश यात्रा गोमतीतट से प्रारम्भ हुई। अनूप बाजपेई और सन्तोष पाण्डेय की अगुवाई में कलश यात्रा हनुमान सेतु मन्दिर परिक्रमा करने के बाद मंगल कलश यात्रा कथा स्थल पहुंची। यात्रा में भागवत पोथी डा. प्रवीण सिर पर रखकर चल रहे थे तो कथा व्यास आचार्य पीठ सेवाकुंज श्रीधाम वृन्दावन के पूज्य युवराज स्वामी यदुनन्दनाचार्य जी महाराज फूलों से सजे रथ पर चल रहे थे। यात्रा में बैण्ड द्वारा जब ‘‘कान्हा बरसाने आ जइयो व ‘‘राधे राधे-राधे राधे गीत जब शुरु हुआ तो कलश लेकर चल रही 101 महिलाएं थिरकने लगी। शाम को कथा में स्वामी यदुनन्दनाचार्य ने भागवत महात्म की कथा सुनाकर लोगों को भावविभोर कर दिया। महाराज जी ने भक्ति, ज्ञान और वैराग्य की कथा भक्तों को श्रवण कराते हुये कहा कि कथा श्रवण से जीवन के सारे पाप नष्ट हो जाते हैं। महासभा के पवन कुमार सिंह ने बताया कि कथा 20 जनवरी तक दोपहर 3 बजे से 6 बजे तक होगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:12