- शिया समुदाय ने किया विरोध प्रदर्शन DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

शिया समुदाय ने किया विरोध प्रदर्शन

- शिया समुदाय ने बडे इमामबाड़े में जन्नतुल बकी के पुनर्निर्माण की मांग को लेकर किया विरोध प्रदर्शन लखनऊ। निज संवाददाता जुमे की नमाज के बाद बड़ी संख्या में शिया समुदाय के सैकड़ों लोगों ने बड़े इमामबाड़े में जन्नतुल बकी को ध्वस्त किए जाने की घटना के विरोध में प्रदर्शन किया। हाथों में तिरंगा लेकर सऊदी अरब, अमेरिका व इजरायल के खिलाफ नारे लगाए और इन देशों के राष्ट्रपति की तस्वीरों को जलाकार विरोध जताया। 23 मई 1925 में सऊदी अरब हुकूमत ने धार्मिक स्थल जन्नतुल बकी को ध्वस्त कर दिया था। तब से हर साल पूरी दुनिया में जन्नतुल बकी को लेकर विरोध प्रदर्शन जारी है। शुक्रवार को मजलिस उलमा-ए-हिंद के बैनर तले प्रदर्शन में कई शिया धर्मगुरु शामिल रहे। मजलिस के महासचिव मौलाना कल्बे जवाद ने कहा कि हर धर्म के लोगों का कर्तव्य है कि जुल्म के खिलाफ आवाज उठाएं। मुसलमानों का सबसे बड़ा दुश्मन आल-ए-सऊद है, जो अमेरिका व इजरायल के इशारे पर मुसलमानों पर लगातार जुल्म कर रहा है। इस बीच मौलाना मुहम्मद मियां आब्दी, मौलाना रजा हुसैन, मौलाना हैदर अब्बास व मौलाना फिरोज हुसैन सहित कई उलमा शामिल रहे। इसके अलावा मौलाना नफीस अख्तर के नेतृत्व में अंजुमन मुहाफिज-उल-इमान दुबग्गा की ओर से दुबग्गा स्थित मस्जिद-ए-अबुतालिब में जन्नतुल बकी के पुनर्निर्माण की मांग को लेकर विरोध जताया गया। जिसमें कई मौलानाओं व उलेमाओं ने शिरकत की।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: