DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जंगलों के परिवेश से दूर इंसानी आदतों में ढल रहा है शावक तेंदुआ

-पशुचिकित्सक और कीपर बन गए हैं उसके अच्छे दोस्त

-एक बार में शावक को 90 एमएल दूध बॉटल से पिलाया जा रहा

चिड़ियाघर स्थित चिकित्सालय में इन दिनों नन्हें तेंदुए की हरकतों से खुशी का माहौल है। शावक चंचल मिजाजी है। पिंजड़े से बाहर खुले में रहने के लिए वो दौड़ पड़ता है। पशु चिकित्सक डॉ. ब्रिजेन्द्र ने बताया कि तेंदुए को मां की कमी बेहद खलती है। कीपर और पशुचिकित्सक उसके सबसे अच्छे दोस्त बन गए हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: