DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

विश्वविद्यालय में सभी विचारधारा के छात्रों को पढ़ने का हक

 विश्वविद्यालयों में सभी विचारधारा के छात्रों को पढ़ने का हक है। मौजूदा सरकार ने विश्वविद्यालय को राजनीतिक अखाड़ा बनाकर छात्रों के हक का हनन कर रही है। इसलिए छात्रों के हित की लड़ाई जारी रहेगी। ये बातें रविवार को नेता प्रतिपक्ष राम गोविंद चौधरी ने कहीं। वह लखनऊ विश्वविद्यालय छात्र संघर्ष मोर्चा द्वारा गांधी प्रतिमा पर आयोजित सभा में शामिल होने पहुंचे थे। श्री चौधरी ने कहा कि हर एक छात्र को पढ़ने का अधिकार है। विश्वविद्यालय प्रशासन अपने तानाशाही रवैये की वजह से छात्रों का छीना जा रहा है।

राष्ट्रीय जनता दल के प्रदेश अध्यक्ष अशोक सिंह ने भी छात्रों का समर्थन करते हुए कहा कि छात्रों के संघर्ष में वह व उनकी पार्टी पूरा साथ देगी। सभा में माकपा राज्य सचिव हीरालाल, एडवा राष्ट्रीय उपाध्यक्ष सुधा सुंदरमन, डीवाईएफआई के प्रदेश सचिव राधेश्याम, समाजवादी छात्र सभा के महामंत्री करुणेश द्विवेदी (केडी) आदि ने भी छात्रों के हक में आवाज उठाई। प्रशासन का रवैया तानाशाही दरअसल पहले यह छात्र सम्मेलन अमीनाबाद स्थित गंगा प्रसाद मेमोरियल हाल में होना था। संगठन के छात्रों ने बताया कि प्रशासन ने इसकी इजाजत भी दे दी थी लेकिन अचानक से शनिवार को प्रशासन ने परमीशन ही रद्द कर दी। इस पर राम गोविंद चौधरी ने कहा प्रशासन सरकार के दबाव में काम कर रहा है। सरकार के कारण प्रशासन ने भी तानाशाही रवैया अपना रखा है। इसलिए कार्यक्रम की इजाजत नहीं दी।

कुलपति को बर्खास्त करने की मांग छात्रों ने सभा में चार प्रमुख मांगों को उठाया। छात्रों ने अपने संबोधन में कहा कि पिछली कई ऐसी घटनाएं हुईं हैं, जिसमें कुलपति के निर्णय व रवैया छात्रों के विरोध में रहा है। इसलिए उन्होंने कुलपति को बर्खास्त करने की मांग की। इसके अलावा योग्य छात्रों को प्रवेश देने, परिसर में लोकतंत्र व छात्रसंघ बहाल करने के साथ निर्देष छात्रों को रिहा करने की मांग शामिल रही। अन्य विवि के छात्रों ने दिया समर्थनसभा में विवि की छात्रनेत्री नेहा यादव, रामा यादव व छात्रनेता किशन मौर्य सहित अन्य कई विवि के छात्र शामिल हुए। लविवि के महेंद्र यादव, अनुपम, गोविंद यादव,मुलायम यादव आदि शामिल हुए। इन सभी का कहना था कि जब तक विवि प्रशासन छात्रों की मांगों को नहीं मानेगा, तब तक इसी तरह के कार्यक्रम जारी रहेंगे। साथ ही उन्होंने भविष्य में आंदोलन करने की भी चेतावनी दी है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: