अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जेलों की बेहतरी के लिए जेल सुधार समिति अधीक्षकों से मांगेगी सुझाव

-जेल मुख्यालय में पहली बार समिति के अधयक्ष व पूर्व डीजीपी की अध्यक्षता में हुई बैठकलखनऊ। निज संवाददातासीएम योगी आदित्यनाथ द्वारा गठित जेल सुधार समिति के अध्यक्ष पूर्व डीजीपी सुलखान सिंह शुक्रवार को पहली बार जेल मुख्यालय पहुंचे। सुलखान सिंह ने समिति के सदस्य सचिव व अपर महानिरीक्षक जेल शरद और सदस्य सेवानिवृत्त जेल अफसर हरिशंकर सिंह के साथ बैठक की। श्री सिंह ने बैठक में कहा कि सूबे की जेलों के अधीक्षकों से सुझाव मांगे जाएंगे कि उनकी जेलों में क्या-क्या दिक्कतें हैं। जल्द ही समिति इस सम्बंध में सूबे के जेल अधीक्षकों को निर्देश जारी करेगी। समिति के पदाधिकारी जेलों में जाकर वहां की दिक्कतें और समस्याएं देखेंगे। ताकि उनका जल्द से जल्द निस्तारण किया जा सका।बैठक में सूबे की जेलों में जेलकर्मियों और जेल अधिकारियों की भारी कमी है। जिसकी वजह से जेलों की सुरक्षा प्रभावित हो रही है। यही वजह है कि जेलों में बंद अपराधियों को नियंत्रित करने में काफी दिक्कतें आ रही हैं। एक जेलकर्मी को एक साथ कई बैरकों की निगरानी करनी पड़ रही है। सूबे की जेलों में कैदियों की ओवर क्राउडिंग की समस्या है। अपराधी जेल अधिकारियों और जेलकर्मियों पर भारी पड़ रहे हैं।24 घंटे अपराधियों से लोहा लेने वाले जेल अधिकारी खुद सुरक्षा को लेकर परेशान हैं। उनके पास पर्याप्तसुरक्षाकर्मी नहीं हैं। अधिकारियों के पास खुद की सुरक्षा के लिए हथियार नहीं हैं। समिति के अध्यक्ष सुलखान सिंह शनिवार जिला जेल लखनऊ का निरीक्षण कर जेल अधिकारियों के साथ उनकी समस्याएं साझा करेंगे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: