अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

साहित्यकार,समाजसेवी व शिक्षा के क्षेत्र के महारथियों का हुआ सम्मान

- सांस्कृतिक छटा की आभा में डूबी दिखी राजधानी

लखनऊ। निज संवाददाता।

भारतीय संस्कृति उत्सव-2018 के सात दिवसीय कार्यक्रम के समापन के अवसर पर संगोष्ठी संग सांस्कृतिक संध्या का आयोजन किया गया। संस्कार, धर्म और अनेकता में एकता को समेटे इस उत्सव में गुरुवार को साहित्यकारों, समाजसेवियों, शिक्षा, चिकित्सा और पत्रकारिता जगत की शख्सियतों को सम्मानित किया गया। कार्यक्रम में दो संगोष्ठियों का आयोजन किया गया। जिसमें दलित एवं स्त्री विमर्श और भारतीय सेना और कश्मीर की चुनौतियां पर वक्ताओं ने अपने विचारों को रखा। मुख्य वक्ता डॉ मनोज पांडे, डॉ राम समुज, डॉ अल्का राय ने अपने व्याख्यान में दलित एवं स्त्री विमर्श विषय पर अपने विचारों को बताते हुए समाज की महिलाओं और दलित महिलाओं की स्थिति पर प्रकाश डाला। वहीं भारतीय सेना और कश्मीर की चुनौतियों पर एक-एक कर वक्ताओं ने अपने विचार रखें। जिसमें आन्नद वर्धन सिंह ने सेना की स्थिति पर सात दिवसीय कार्यक्रम के समापन अवसर पर सम्मान समारोह में बतौर मुख्य अतिथि राज्य मंत्री जय प्रकाश निषाद मौजूद रहे इस अवसर पर न्यायमूर्ति कमलेश्वर नाथ, पूर्व आई पीएस किशोर कुणाल, साहित्यकार विद्या बिंदु, उद्योगपति नटवर गोपाल मौजूद रहे। कार्यक्रम की शुरूआत दीपप्रज्जवलन से हुई शैलेन्द्र मणि त्रिपाठी ने अतिथियों का स्वागत पुष्पगुच्छ और स्मृति चिह्न से किया।

- सांस्कृतिक छटा की आभा में डूबी दिखी राजधानी

देश रंगीला रंगीला पर बुशरा इकबाल ने कदमों को थिरका देशभक्ति के स्वरों का संचार पूरे वातारण में कर दिया। जिसके बाद लोकनृत्य और लोकगायन की एक से बढ़कर एक प्रस्तुतियां बच्चों ने दी जिसमें घूमर,अवधी गीतों पर अपने कदमों को थिरका कर सबको मंत्रमुग्ध कर दिया। जिसमें हर्षित,प्रणिका श्रेयांशी, ऋषभ ने अपनी कला से सबका मन मोह लिया।

-इनका हुआ सम्मान

मुख्य अतिथि राज्य मंत्री जय प्रकाश निषाद द्वारा न्यायमूर्ति कमलेश्वर नाथ, समाजसेवा के क्षेत्र में ओमप्रकाश जलान,डॉ विठलदास, अतूल, नटवर गोयल, जय पांडे, अल्का राय, गिरीश पांडे, किशोर कुणाल मानवेंद्र त्रिपाठी, इंदल रावत, साहित्यजगत में डॉ विद्या बिंदु सिंह, डॉ सुमन दुबे, डॉ करूणा पांडे, शिक्षा के क्षेत्र में डॉ रामचन्द्र सिंह, ज्ञानमति सिंह, साधना श्रीवास्तव, अर्चना सिंह, चिकित्सा के क्षेत्र में डॉ ऋचा मिश्रा, डॉ शिवांगी मिश्रा वहीं पत्रकारिता जगत में भी हस्तियों को मोमेंटो देकर सम्मानित किया गया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:साहित्यकार,समाजसेवी व शिक्षा के क्षेत्र के महारथियों का हुआ सम्मान