DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पीजीआई के डॉ. राजकुमार आयुर्विज्ञान सैफई के कुलपति बने

लखनऊ। निज संवाददाता

पीजीआई के न्यूरो सर्जरी विभाग के प्रमुख डॉ. राजकुमार को इटावा स्थित उत्तर प्रदेश आयुर्विज्ञान विश्वविद्यालय, सैफई का कुलपति बनाया गया गया है। राज्यपाल राम नाईक से संस्तुति मिलते ही चिकित्सा शिक्षा प्रमुख सचिव डॉ. रजनीश दुबे ने बुधवार को आदेश जारी कर दिया है। इससे पहले डॉ. रामकुमार ऋषिकेश एम्स के निदेशक रह चुके हैं। वहां से लौटने के बाद उन्हें पीजीआई ट्रॉमा सेंटर का प्रमुख बनाया गया।

उत्तर प्रदेश आयुर्विज्ञान विश्वविद्यालय, सैफई के कुलपति बनाए गए डॉ. राज कुमार बताते हैं कि मरीजों के लिए सुपर स्पेशयलिटी इलाज की सुविधा दी जाएगी। ताकि मरीजों को बेहतर व किफायती इलाज मुहैया कराया जा सके। वह कहते हैं कि विवि में अनुशासनहीनता की शिकायतें, जिन्हें दूर किया जाएगा। रिसर्च को आगे बढ़ावा दिया जाएगा। मरीजों को बेहतर इलाज मुहैया कराने के लिए विभागों को अपग्रेड किया जाएगा। आधुनिक सुविधाएं भी जरूरत के हिसाब से बढ़ाई जाएंगी। डॉ. राजकुमार बताते हैं कि विवि का खुद का अलग से रेगुलेशन एक्ट बनाएंगे। अभी तक विवि का खुद कोई रेगुलेशन नहीं बन सका है। यहां पीजीआई, केजीएमयू और राज्य सरकार के रेगुलेशनों का पालन हो रहा है।

आज संभागेंगे कमान

डॉ. राजकुमार बताते हैं कि वह गुरुवार को विवि में कार्यभार ग्रहण करेंगे। वह कहते हैं कि विवि में मरीजों के लिए सुपर स्पेशयलिटी इलाज पहली प्राथमिकता होगी। सुपर स्पेशयलिटी प्रशिक्षण के साथ ही मेडिकल रिसर्च शुरू करेंगे। ताकि विवि का नाम राष्ट्रीय स्तर हो सके।

24 डॉक्टरों के नाम कमेटी को भेजे गए थे

उत्तर प्रदेश आयुर्विज्ञान विश्वविद्यालय, सैफई के कुलपति पद के लिए पीजीआई, केजीएमयू समेत अन्य संस्थानों के करीब 24 डॉक्टरों के नाम कमेटी के समक्ष भेजे गए थे। जिसमें पीजीआई के न्यूरो सर्जरी विभाग के प्रमुख डॉ. राजकुमार का चयन किया गया। कुलपति पद के लिए पीजीआई के डॉ. आरके शर्मा, डॉ. हेमचन्द्रा, डॉ. टीएन ढोल के अलावा केजीएमयू व अन्य संस्थानों के 24 डॉक्टर के नाम कमेटी के पास भेजे गए थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:पीजीआई के डॉ. राजकुमार आयुर्विज्ञान सैफई के कुलपति बने