class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

तीन सरकारी वकील हटाए गए

लखनऊ। विधि संवाददाताहाईकोर्ट की लखनऊ बेंच में सरकारी वकीलों की नियुक्तियों का विवाद अब भी थमने का नाम नहीं ले रहा है। न्यायालय में याचिका दाखिल कर बिना अर्हता के ही कईयों को सरकारी वकील बनाने के भी आरोप लगे हैं। उक्त याचिका अभी हाईकोर्ट में विचाराधीन है। इसी दौरान तीन सरकारी वकीलों को तत्काल प्रभाव से हटा दिया गया है। ये सभी स्थाई अधिवक्ता के पद पर तैनात थे। हटाए गए सरकारी वकीलों में प्रफुल्ल यादव, विशाल अग्रवाल व अमर चौधरी शामिल हैं। उप सचिव सन्तलाल ने आदेश जारी करते हुए प्रफुल्ल यादव की स्थाई अधिवक्ता के रूप में आबद्धता तत्काल प्रभाव से समाप्त की है। हालांकि इसका कोई कारण आदेश में इंगित नहीं किया गया है। वहीं दूसरी ओर उप सचिव ने विशाल अग्रवाल व अमर चौधरी को हटाए जाने के आदेश में कहा है कि वे स्थाई अधिवक्ता के पद पर नियुक्ति की अर्हता पूरी नहीं करते।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:
दवाओं की किल्लत से फूली मरीजों की सांसेंनये साल में डिजिटल हो जायेगा एलडीए का सिस्टम