class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

यह खबर आपने कभी लगाई तो नहीं है------पेशी पर कैदियों को शराब पिला रहे सिपाही

- एसीजेएम के सामने कैदियों ने कचहरी लॉकअप की खोली पोल

- जेल प्रशासन द्वारा कराए गए मेडिकल जांच में कैदियों में एल्कोहल की हुई पुष्टि

- जेल प्रशासन ने की एसएसपी से शिकायत, जांच भी शुरू

लखनऊ। सुशील सिंह

यूपी पुलिस के सिपाही पेशी पर आए कैदियों को शराब पिला रहे हैं। सैर सपाटा की खबरें तो आम हो चुकी हैं लेकिन कैदियों के करीबियों से मुट्ठी गरम करके जाम लड़ाने की बात हाल ही में सामने आई। दरअसल, पेशी से लौटे कैदियों के हाव भाव भांपने के बाद जेल प्रशासन उसकी तह तक जाने में जुटा था। जेल प्रशासन ने पेशी से लौटे कैदियों का मेडिकल कराया। इसमें एल्कोहल की पुष्टि हुई और साफ हो गया कि पेशी के दौरान शराब पीकर कैदी लौट रहे हैं। साथ ही जेल का निरीक्षण करने पहुंचे एसीजेएम के सामने कैदियों ने कचहरी लॉकअप की पोल खोल दी। कैदियों ने बताया कि कचहरी लॉकअप में तैनात सुरक्षाकर्मी शातिर और रसूखदार कैदियों से सुविधा शुल्क लेकर उन्हें प्रतिबंधित खान-पान की चीजें मुहैया करा देते हैं। साथ ही लॉकअप से बाहर मौज मस्ती करने के लिए भी निकाल देते हैं।

वरिष्ठ जेल अधीक्षक पीएन पाण्डेय ने एसएसपी दीपक कुमार को पत्र लिखकर पूरे मामले की शिकायत की। एसएसपी ने इसे गम्भीर मानते हुये पुलिस लाइन से ड्यूटी पर जाने वाले सिपाहियों का ब्योरा भी खंगालना शुरू कर दिया है। जल्द ही कार्रवाई के संकेत मिल रहे हैं। जेल के सूत्रों ने बताया कि पेशी से लौटे कैदी नशे में धुत होकर उत्पात कर रहे हैं। इतना ही नहीं गेट पर आएदिन जेलकर्मियों से अभ्रदता करते हैं। साथ ही बैरक में भी दूसरे कैदियों से गाली-गालौच और मारपीट करते हैं। इन घटनाओं के दृष्टिगत मेडिकल जांच कराने की शुरुआत की गई। बुधवार को जेल अधिकारियों ने पेशी के लिए कैदियों को लेने आए सिपाहियों को सख्त हिदायत दी कि शराब पीकर आने वाले कैदियों को शाम को नहीं लिया जाएगा।

फर्जी मंत्री समेत कई रसूखदारों में शराब पीने के हुई पुष्टि

कारोबारियों से कराड़ों रुपए ऐंठने वाला जेल में बंद फर्जी मंत्री अभिषेक निगम के अलावा शातिर नवीन, व सुरेन्द्र समेत दर्जनों कैदी लगातार पेशी से शराब पीकर जेल आ रहे हैं। मंगलवार की शाम पेशी से कई कैदियों में शराब की पुष्टि हुई। नशे में धुत इन कैदियों को जेलकर्मियों ने टोंका तो उल्टा भिड़ गए। बैरक में जाने के बाद हंगामा भी किया। जेल प्रशासन ने जेल में बंद सोना लूट कांड, सीरियल कीलर सलीम के शूटरों, पेट्रोल पम्प मालिकों समेत दो दर्जन से ज्यादा शातिर रसूखदार कैदियों पर विशेष नजर रख रहा है।

शराबियों पर होगी सख्ती

जेल प्रशासन ने शराब पीकर आने कैदियों पर सख्त रुख अख्तियार किया है। वरिष्ठ जेल अधीक्षक पीएन पाण्डेय बताते हैं कि पेशी या थानों की पुलिस द्वारा जेल में दाखिल किए जाने कैदियों की तलाशी के साथ शराब पीकर आने वालों पर विशेष नजर रखी जा रही है। उन्होंने कहा कि खासकर पेशी से वापस जेल आने वाले नशे में धुत कैदियों शराब की पुष्टि होने वाले कैदियों को बकायदा सजा के तौर पर तन्हाई व हाई सिक्योरिटी बैरक में बंद कराया जा रहा है। ताकि ये अपराधी जेल में हुड़दंग या उत्पात न कर सकें।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:ीिही
पुरानी हाईकोर्ट बिल्डिंग से सिविल कोर्ट के बीच आवागमन का रास्ता शुरू हुआसीएम योगी ने नीदरलैंड के उद्यमियों को निवेश का न्यौता दिया