DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   उत्तर प्रदेश  ›  ललितपुर  ›  ललितपुर में पुलिस के प्रयास असफल, नहीं हटा अतिक्रमण
ललितपुर

ललितपुर में पुलिस के प्रयास असफल, नहीं हटा अतिक्रमण

हिन्दुस्तान टीम,ललितपुरPublished By: Newswrap
Thu, 17 Jun 2021 06:12 AM
ललितपुर में पुलिस के प्रयास असफल, नहीं हटा अतिक्रमण

ललितपुर। जाखलौन कस्बे के मुख्य मार्ग बस स्टैंड स्थित निर्माणाधीन सार्वजनिक शौचालय की भूमि पर अवैध अतिक्रमण राजस्व टीम और पुलिस बल के तमाम प्रयासों के बाद भी नहीं हटाया जा सका। जिसकी वजह से ग्रामीणों में आक्रोश व्याप्त है।

अतिक्रमण हटाने पहुंची राजस्व व पुलिस की टीम से अतिक्रमणकारी की तीखी नोंक झोंक होती रही। अतिक्रमणकारी ने कहा कि यदि उसका कब्जा हटाया जाता है तो कस्बे में अन्य अतिक्रमण भी तुरंत हटाए जाएं।

वहीं लेखपाल ने बताया कि सड़क पर दुकान रखने से निर्माणाधीन शौचालय का रास्ता बंद हो जाएगा। जिसके कारण निर्माण सामग्री नहीं पहंुच सकेगी। राजस्व की टीम में शामिल सदर कानूनगो राजेंद्र पटेल, हल्का लेखपाल कुंवर बहादुर सिंह, अशोक कुमार, राकेश कुमार उप निरीक्षक राजकिशोर भारी पुलिस बल के साथ अतिक्रमणकारी को समझाते रहे पर कब्जा नहीं हट सका। अंत में एसएचओ के चेतावनी देने पर कब्जा खुद हटाने के आग्रह पर उसको मोहलत दे दी गयी। बताते चलें कि लगभग 15 वर्ष पूर्व कस्बे की भूमि प्रबंधक समिति ने 10 जुलाई 2007 में आराजी क्रमांक 1085 में 367 आवासीय पट्टों का प्रस्ताव भेजा था। जिसमें 89 पट्टे सदर उपजिलाधिकारी ललितपुर ने 30 अक्टूबर 2007 को स्वीकृत कर दिए थे। जिसमें अफरोज पत्नी अनवर खां का पट्टा भी स्वीकृत हुआ था। तब से वर्ष 2021 तक किसी भी व्यक्ति ने पट्टे की जगह पर कब्जा नहीं किया। 2.75 एकड़ की आवश्यकता थी और मौके पर मात्र 0.23 एकड़ भूमि खाली थी। नतीजतन किसी ने कोई प्रयास नहीं किया। निवर्तमान प्रधान राजेश राजे ने अपने कार्यकाल में लोगों की आवश्यकता को देखते हुए सार्वजनिक सुलभ शौचालय का प्रस्ताव और धनराशि स्वीकृत करवाई थी। चुनाव की घोषणा होते ही प्रस्तावित स्थल पर अवैध अतिक्रमण होने से निर्माण कार्य रुक गया था।

संबंधित खबरें