ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेश ललितपुरअपहृत पति की तलाश में हीलाहवाली का आरोप लगा महिला ने कलेक्ट्रेट में खुद पर डाला पेट्रोल

अपहृत पति की तलाश में हीलाहवाली का आरोप लगा महिला ने कलेक्ट्रेट में खुद पर डाला पेट्रोल

फोटो- 1कैप्सन- कलेक्ट्रेट में खुद पर पेट्रोल डालने वाली महिला को उठाती एसडीएम व पुलिस अपहृत पति की तलाश में हीलाहवाली का आरोप लगा महिला ने...

अपहृत पति की तलाश में हीलाहवाली का आरोप
लगा महिला ने कलेक्ट्रेट में खुद पर डाला पेट्रोल
हिन्दुस्तान टीम,ललितपुरMon, 24 Jun 2024 06:05 PM
ऐप पर पढ़ें

फोटो- 1

कैप्सन- कलेक्ट्रेट में खुद पर पेट्रोल डालने वाली महिला को उठाती एसडीएम व पुलिस

अपहृत पति की तलाश में हीलाहवाली का आरोप

लगा महिला ने कलेक्ट्रेट में खुद पर डाला पेट्रोल

जिलाधिकारी की सुरक्षा में लगे गनर ने फुर्ती के साथ छीनी माचिस

पेट्रोल से नहाई महिला को डीएम ने बंधाया ढांढस, भेजा अस्पताल

घटनाक्रम के दौरान कई घंटे कलेक्ट्रेट में लगा रहा लोगों का मजमा

ललितपुर ,संवाददाता । अपहृत पति की तलाश में हीलाहवाली के पुलिस पर गंभीर आरोप लगाते हुए इंदौर में रह रही खांदी निवासी महिला ने कलेक्ट्रेट में खुद पर पेट्रोल डालकर आग लगाने का प्रयास किया। इस बीच फुर्ती के साथ डीएम के गनर अमित सेंगर ने महिला से माचिस छीन ली। फिर डीएम ने महिला ने बातचीत कर पुलिस को कार्रवाई के लिए निर्देशित किया और उसको जिला चिकित्सालय भिजवाया।

सोमवार को कलेक्ट्रेट में लगभग 12.10 बजे जिलाधिकारी अक्षय त्रिपाठी सभागार में बैठक कर रहे थे। उनके कार्यालय में उप जिलाधिकारी सैय्यद सान्या सोनम एजाज लोगों की शकायतें सुन रही थीं। अपर जिलाधिकारी अपने कक्ष में कामकाज निपटा रहे थे। एक महिला ने शोर मचाते हुए खुद पर डिब्बे से पेट्रोल उड़ेल लिया और माचिस जलाने लगी। यह देख लोगों में अफरा तफरी मच गयी। तभी डीएम की सुरक्षा में लगे गनर अमित सेंगर फुर्ती के साथ महिला की तरफ बढ़े और उसके हाथों से माचिस छीन ली। इस बीच अन्य सुरक्षा कर्मी भी हरकत में आ गए। सभी महिला को समझाने बुझाने लगे। जानकारी मिलते ही उप जिलाधिकारी बाहर निकलीं और रोती बिलखती महिला को समझाने बुझाने का प्रयास करने लगी। सुरक्षा कर्मियों के साथ मिलकर उन्होंने महिला को किसी तरह उठाया और पास में कुर्सियों पर बिठाकर समझाने लगीं। तभी जिलाधिकारी अक्षय त्रिपाठी मीटिंग छोड़ बाहर आए। महिला से उन्होंने बातचीत कर मामले को समझा। फिर कार्यालय में उसके शकायती पत्र को बारीकी से पढ़कर पुलिस अफसरों को फोन करके कार्रवाई के निर्देश दिए। इसके बाद एम्बुलेंस से महिला को जिला चिकित्सालय में भर्ती कराया गया। इस घटनाक्रम के दौरान कलेक्ट्रेट में लगभग एक घंटे तक हड़कंप मचा रहा।

बाक्स

फर्जी कंपनी खोल किया था गबन

ललितपुर। अपर पुलिस अधीक्षक अनिल कुमार ने बताया कि महिला कमलेश कुमारी ने प्रार्थना पत्र देकर आरोप लगाया है कि कुछ लोगों ने उसके पति मनोज का अहमदाबाद गुजरात में अपहरण कर लिया है। उनके मुताबिक मनोज ने कुछ लोगों के साथ एक कंपनी खोलकर गबन किया था और अहमदाबाद में रहने लगा था। दूसरे प्रांत का मामला होने के बाद भी पुलिस आवश्यक कार्रवाई कर रही है।

बाक्स

साहब! अपहरणकर्ता मांग रहे 30 लाख फिरौती

महिला ने जिलाधिाकरी को सौंपे शिकायती पत्र में दी पूरी जानकारी

जिले के कई लोगों पर लगाया अपहरण व फिरौती मांगने का आरोप

ललितपुर। कमलेश कुमारी पत्नी मनोज निवासी ग्राम खांदी मजरा रानीपुरा कोतवाली तालबेहट हाल निवासी नरीमन प्वाइन्ट निपानिया थाना लसुड़िया इंदौर ने डीएम को सौंपे शिकायती पत्र में बताया कि उसके पति वाहन चालक हैं। कुछ महीनों से अहमदाबाद में रहकर एमपी ओला में अपनी कार संचालित करते आ रहे हैं।

अहमदाबाद में विपक्षीगण उसके पति को कार सहित बलपूर्वक अपहरण करके कहीं ले गए। पति के मोबाइल नंबर 9244090400 के व्हाट्सएप से उनके देवर दिनेश के मोबाइल फोन नंबर 7007884326 पर काल करके विपक्षियों ने बताया कि मनोज उनके कब्जे में है। उसको सुरक्षित चाहते हो 40 लाख रुपये दे दो, नहीं दो उसे जान से मार देंगे। दुबारा फोन आने पर उसके पति के साथ मारपीट की आवाज सुनाई दे रही थी। उसने काल रिकार्डिंग में यह कहते सुना कि कोतवाली सदर अन्तर्गत मड़वारी ग्राम निवासी एक ग्रामीण को पैसा नहीं दिया तो मनोज को जान से खत्म कर देंगे। इस दरम्यान उसके पति ने कई अन्य लोगों के भी नाम लिए हैं। पुलिस से पति की हत्या की आशंका व्यक्त करके वह अपने मायके मसौराकलां आ गयी। 18 जून को उनके मोबाइल पर आरोपितों ने फोन किया और बैंक खाता व आईएफएससी कोड भेजकर 30 लाख रुपये डालने के लिए कहा। महिला के मुताबिक उसके पति की जान को खतरा बना हुआ है और सूचना के बावजूद पुलिस कार्रवाई नहीं कर रही है। उसकी शिकायत पर पुलिस ने आरोपितों के एक साथी को पकड़ा था। इस दौरान अन्य आरोपितों की लोकेशन भी मालूम हो गयी थी लेकिन पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की। प्रतिदिन कोई न कोई बहानेबाजी हो रही है, जिससे ऐसा प्रतीत हो रहा है कि पुलिस आरोपितों से मिल गयी है।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।
Advertisement