DA Image
2 अगस्त, 2020|11:55|IST

अगली स्टोरी

बाढ़ का पानी घटा तो कटान में जमीन व फसलें निगलने लगी नदी

बाढ़ का पानी घटा तो कटान में जमीन व फसलें निगलने लगी नदी

1 / 2बुधवार को आई बाढ़ के बाद मोहाना नदी का पानी कम होने से इलाके के कई गांवों के लोग अभी राहत की सांस भी नहीं ले पाए थे कि नदी ने तेजी से कटान शुरू कर दिया है। खेतों और फसलों के साथ-साथ यहां के इंदरनगर...

बाढ़ का पानी घटा तो कटान में जमीन व फसलें निगलने लगी नदी

2 / 2बुधवार को आई बाढ़ के बाद मोहाना नदी का पानी कम होने से इलाके के कई गांवों के लोग अभी राहत की सांस भी नहीं ले पाए थे कि नदी ने तेजी से कटान शुरू कर दिया है। खेतों और फसलों के साथ-साथ यहां के इंदरनगर...

PreviousNext

बुधवार को आई बाढ़ के बाद मोहाना नदी का पानी कम होने से इलाके के कई गांवों के लोग अभी राहत की सांस भी नहीं ले पाए थे कि नदी ने तेजी से कटान शुरू कर दिया है। खेतों और फसलों के साथ-साथ यहां के इंदरनगर और रननगर के 14 घर नदी के निशाने पर हैं।

नया पिंड में नदी कृषि भूमि को निगल रही है तो अनूपनगर में धान की फसल बाढ़ के साथ आई मिट्टी से पट गई है। कटान से गांवों में हाहाकार मचा हुआ है। नायब तहसीलदार ने कुछ गांवों का दौरा कर पीड़ितों को तिरपाल बांटे हैं। पहाड़ों पर हुई भारी बारिश से उफनाई मोहाना नदी ने पहले तो रौद्र रूप धरकर अपनी विनाशलीला में कई गांवों को तबाह कर दिया। बुधवार को आई बाढ़ से इधर के कई गांवों के बाशिंदे बेघरबार और तबाह हो गए। अभी कई गांवों के लोगों के घरों और मकानों पर खतरे की तलवार लटकी है। ये कब नदी की कटान की भेंट चढ़ जाएंगे, कहा नहीं जा सकता। घरवाले अपने इन घरों को खुद तोड़ने की जुगत में हैं। रननगर गांव के प्रेमचंद, रामअक्षयवर, राजेश कुमार, नागेंद्र, श्रीराम और राकेश के घर कटान की जद में हैं। इन लोगों के घरों से नदी महज पांच मीटर की दूरी पर है। इससे इन लोगों के दिल दहल रहे हैं कि कब नदी उनके घरों को लील लेगी। रविवार को बाढ़ का पानी कम होने के साथ ही नदी ने कटान करना शुरू कर दिया है। खैरटिया के अनूपनगर गांव केे किसानों के खेतों में लगी धान की फसल नदी के पन की वजह से गर्त हो गई है। नयापिंड गांव में नदी कटान कर फसलों को निगल रही है। इससे यहां के किसान बेहद परेशान हैं। रविवार को नायब तहसीलदार अरुण सोनकर ने लेखपाल सोनू मौर्य और कोमल राज के साथ इंदरनगर गांव का दौरा कर वहां के बाढ़पीड़ित परिवारों को तिरपाल बांटे।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:When the flood waters receded the river started swallowing land and crops