DA Image
11 अप्रैल, 2021|12:14|IST

अगली स्टोरी

सीतापुर तक हुआ रेल चलाने का ट्रायल, लखीमपुर में खुशी

सीतापुर तक हुआ रेल चलाने का ट्रायल, लखीमपुर में खुशी

ऐशबाग- मैलानी रेलप्रखंड पर ट्रेन यातायात जल्द शुरू होने की कवायद शुरू हो गई है। इसमें पहले चरण में ऐशबाग-सीतापुर रेलप्रखंड पर ट्रेन का ट्रायल किया गया है। इसके लिए 24 से 25 नवम्बर को निर्धारित समय पर रेलवे के अधिकारियों की निगरानी में ट्रायल लिया गया। इससे लखीमपुर के लोगों में भी खुशी है। सीतापुर तक ट्रायल के बाद अब सीतापुर- मैलानी रेलप्रखंड पर ट्रायल होने की तैयारी है। डालीगंज-सीतापुर रेलखंड के ट्रायल के साथ ही राजधानी सहित सीतापुर, लखीमपुर और पीलीभीत जिले के लोगों को नई दिल्ली, जम्मू और पंजाब के लिए नया रूट बनने जा रहा है।

आगे आने वाले समय में यह रूट इन जिले के लोगों के साथ ही व्यापार को भी संजीवनी देने का काम करेगा। दो दिन के ट्रायल को पूवोत्तर परिमंडल के रेल संरक्षा आयुक्त अरविंद कुमार जैन, डीआरएम विजयलक्ष्मी कौशिक, और आरवीएनएल के चीफ प्रोजेक्ट मैनेजर वीके पांडे ने स्टेशनों के बीच निरीक्षण किया। शनिवार को माटर ट्राली से निरीक्षण हुआ इसके बाद रविवार को स्पेशल ट्रेन दौड़ाकर स्पीड ट्रायल हुआ। ऐशबाग- मैलानी रेलप्रखंड पर मीटरगेज की लाइन को हटाकर ब्राडगेज किए जानें का आमान परिवर्तन का काम वर्ष 2016 में शुरू किया गया था। इसमें पहले ऐशबाग से सीतापुर के बीच ट्रेनों का संचालन बंद कर दिया गया था। इसके बाद सीतापुर से मैलानी के बीच ट्रेनों का संचालन बंद किया गया। सबसे बाद मैलानी से पीलीभीत के बीच में ट्रेन का संचालन बंद कर पटरी बदलने का काम शुरू किया गया। दो साल से ज्यादा का समय गुजर जानें के बाद ऐशबाग- सीतापुर के बीच ब्राडगेज रेलप्रखंड पर ट्रेन का ट्रायल होने जा रहा है। पहले ट्रायल में इस रुट पर डीएमयू ट्रेनों का संचालन किया जाएगा। रेलवे के अधिकारियों का कहना है कि ऐशबाग- सीतापुर के बीच होने वाले ट्रायल के बाद करीब तीन माह के बाद सीतापुर-मैलानी के बीच ट्रेन का ट्रायल किया जाएगा। ट्रायल के बाद भी ट्रेन संचालन में अभी वक्त लगेगा। इसके बाद भी कार्रदाई संस्था को तय समय तक अपना काम पूरा करने को कहा गया है।

900 करोड़ के बजट से हो रहा आमान परिवर्तन का काम

ऐशबाग से पीलीभीत रेल प्रखंड को आमान परिर्वतन कर ब्राडगेज करने के लिए 900 करोड रुपए का बजट दिया गया था। इसमें 289 किलोमीटर में रेलवे ट्रेक को बदला जाना है। ऐशबाग- सीतापुर के बीच आमान परिर्वतन के लिए 350 करोड रुपए दिए गए थे।

पहले दौर में चलेगी चार जोड़ी ट्रेने

आरवीएनएल के अधिकारियों ने बताया कि ऐशबाग- सीतापुर रेलप्रखंड पर रेलवे के ट्रायल होने के बाद चार जोड़ी ट्रेनों का संचालन किया जाएगा। यह ट्रेने पैसेजर ट्रेने होगी। इसके बाद सीतापुर- मैलानी रेलप्रखंड का ट्रायल होने के बाद इन ट्रेनों को संचालन मैलानी तक बढाया जाएगा।

ट्रेनों का संचालन पहले बाद में बनेगे स्टेशन

आरवीएनएल के अधिकारियों का कहना है कि रेलवे पहले ट्रेनों का संचालन चलाने को प्राथमिकता दे रहा है। इसके चलते पहले से बने स्टेशनों के सहारे यात्रियों को ट्रेन की सुविधा दी जाएगी। इसके बाद धीरे धीरे इनका निर्माण भी पूरा कर लिया जाएगा।

इस तरह से बंद हुआ ट्रेनों का संचालन

15 मई 2016 ऐशबाग से सीतापुर ट्रेन का संचालन बंद

15 अक्टूबर 2016 सीतापुर से मैलानी ट्रेन का संचालन बंद

31 मई 2018 मैलानी से पीलीभीत ट्रेन का संचालन बंद

ऐशबाग-मैलानी के बीच संचालित होती थी 22 ट्रेने

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Tripura train run till Sitapur happiness in Lakhimpur