DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आंधी-तूफान का कहर, सैकड़ों पेड़ गिरे, बिजली गुल

आंधी-तूफान का कहर, सैकड़ों पेड़ गिरे, बिजली गुल

मंगलवार रात जिले में आए तेज तूफान और बारिस के चलते कई जगह पेड़ टूट कर बिजली की लाइनों पर गिरे। इससे शहर सहित जिले के विभिन्न हिस्सों में विद्युत व्यवस्था पूरी तरह से ध्वस्त हो गई। बुधवार को बिजली विभाग के कर्मचारियों ने कड़ी मेहनत कर कई जगह पेड़ छटवाए, लाइनों पर गिरे पेड़ो को उठवाया। दिन भर मेहनत करने के बाद विभाग के कर्मचारी देर शाम व्यवस्था शुरू कर पाए। मंगलवार की रात लगभग 8 बजे तेज आंधी के साथ बारिश हुई। इससे शहर के अलावा ग्रामीण क्षेत्रों में कई जगह पेड़ टूट कर बिजली की लाइनों पर गिर गए। शहर में खीरी रोड से काशीनगर को जाने वाली सड़क पर पेड़ टूट कर बिजली की लाइन पर गिर गया। इससे पूरे काशीनगर क्षेत्र में होने वाली बिजली की सप्लाई बाधित हो गई।

इससे सिकिटिहा का भी कुछ क्षेत्र भी प्रभावित हुआ। इसके अलावा गोला रोड और खीरी रोड पर भी बिजली लाइन पर पेड़ गिरने से विद्युत आपूर्ति बाधित रही। बुधवार को बिजली विभाग के कर्मचारियों ने दिनभर मेहनत कर कई मोहल्लों की व्यवस्था सुधारी लेकिन काशीनगर सहित जिले के कई हिस्सों में शाम तक बिजली सप्लाई शुरू नहीं हो पाई। इसके अलावा कलेक्ट्रेट गेट पर भी पेड़ टूट कर गिरने से विद्युत आपूर्ति बाधित हुई हालांकि यहां सुबह ही बिजली विभाग के कर्मचारियों ने लाइन ठीक करली। इससे शहर के कुछ हिस्सों में बिजली मिलनी शुरू हो गई। ग्रामीण क्षेत्रों में भी यही हालत रही ग्रामीण क्षेत्रों में कई गांवों में बिजली विभाग की टीम बुधवार को नहीं पहुंच पाई इससे कई जगह बुधवार को भी लोग परेशान रहे। इस भयंकर गर्मी में बिजली न मिलने से दिन भर लोग परेशान रहे।

शहर में दिन भर चले जनरेटर

बिजली व्यवस्था ठप होने से गर्मी में लोग परेशान हो गए। आंधी समाप्त होने के बाद शहर की कालोनियों में लोगों ने जनरेटर चलाया। दिन में भी कालोनियों में जनरेटर चलते रहे। इससे दिन भर मोहल्लों में जनरेटरों की धड़धड़ाहट गूंजती रही। गलियों में इतना शोर रहा कि निकलना मुश्किल हो गया। लोग एक दूसरे की आवाज नहीं सुन पा रहे थे। दिन भर इसी तरह लोगों ने किसी तरह गर्मी को झेलते रहे।

देर रात शहर के कई मोहल्लों में बिजली व्यवस्था शुरू हो पाई। बाक्सदेर शाम तक शुरू हो गई व्यवस्था तेज आंधी पानी के चलते एक शहर के कई हिस्सों में बिजली व्यवस्था बाधित हो गई लेकिन सुबह से आठ टीमें शहर में काम कर रही हैं। कई जगह दिन में ही व्यवस्था बहाल कर ली गई। कई जगह पेड़ उठवाने में दिक्कत हुई। देर शाम तक पूरे शहर में विद्युत सप्लाई शुरू हो गई।

डीएस चौहान, अवर अभियंता विद्युत

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Thunderstorms, hundreds of trees collapse, electric gull