DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बीडीओ आवास में रखे-रखे सूख गए हजारों पौधे

बीडीओ आवास में रखे-रखे सूख गए हजारों पौधे

सरकारी पौधरोपण की में अफसरों की बड़ी लापरवाही सामने आई है। बीडीओ के सरकारी आवास परिसर में ही दो हजार से ज्यादा पौधे रखे-रखे सूख गए। इन पौधों को लगवाया ही नहीं गया। जबकि पौधों को लगवाने के लिए नर्सरी से 25 रुपए प्रति पौधे के हिसाब से खरीदा गया था। खरीदने के बाद यह पौधे रख दिए गए और बिना लगाए ही रखेरखे सूख गए। बढ़ते हुए प्रदूषण को रोकने के लिए सरकार ने बीती पन्द्रह अगस्त को अभियान चलाकर पौधे रोपने के निर्देश दिए थे। इसी क्रम में वन विभाग के साथ ही अन्य विभागों को पौधरोपण का दायित्व दिया गया था। इसमें विकास विभाग की अहम भूमिका थी। इसी कड़ी में विकास खण्ड धौरहरा की सभी ग्राम पंचायतों में भी अपने लक्ष्य 1400 रुपए प्रति ग्राम पंचायत के अनुसार लगाया जाना था। इसके के लिए धौरहरा ब्लॉक के अफसरों ने भी पौधे खरीदे।

प्रति ग्राम पंचायत चौदह सौ पौध के हिसाब से सरकारी व गैर सरकारी पौधशालाओं से पौध खरीद कर ली गई। प्रति पौधा पच्चीस रुपए कीमत बताई जाती है। खरीद के बाद आलम यह है कि करीब दो हजार पौधे जो सरकारी पैसों से खरीदे गए थे वह बीडीओ के सरकारी आवास परिसर में ही रखे रह गए। यह पौधे यहीं पर सूख गए। अफसरों ने इन पौधों को कहीं लगवाना मुनासिब नहीं समझा। यह पौधे किन गांवों में लगने के लिए आए थे, क्यों नहीं लगवाए गए यह बड़ा सवाल है। अफसर अब अपनी जिम्मेदारियों से पल्ला झाड़ रहे हैं। बताया जाता है कि यह पौधे शाहपुर ग्राम पंचायत में लगने के लिए थे। पौधे क्यों नहीं लगे यह अफसर नहीं बता रहे हैं।जो पौधे ग्राम पंचायतों में लगाने के लिए आए थे वह लगवा दिए गए थे। मुझे इसकी जानकारी नहीं है कि कहीं पौधे रखे-रखे सूख गए हैं। फिलहाल मामले की जांच कराई जाएगी। इसके बाद आगे की कार्रवाई होगी। भीमजी उपाध्याय, बीडीओ धौरहरा

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Thousands of dried plants kept in the BDO Housing