Section 144 implemented political pandals will not be held in Tuthwa fair - धारा 144 लागू, ठुठवा मेले में नहीं लगेंगे राजनैतिक पांडाल DA Image
13 नबम्बर, 2019|6:16|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

धारा 144 लागू, ठुठवा मेले में नहीं लगेंगे राजनैतिक पांडाल

             144

1 / 2धारा 144 लागू, ठुठवा मेले में नहीं लगेंगे राजनैतिक पांडाल

             144

2 / 2धारा 144 लागू, ठुठवा मेले में नहीं लगेंगे राजनैतिक पांडाल

PreviousNext

गांजर के कुम्भ ठुठवा मेले में इस बार राजनैतिक पांडाल नहीं सजेंगे। अयोध्या फैसला आने के बाद प्रशासन ने राजनैतिक हस्तियों से वार्ता कर यह राह निकाली है। मेले में यदि कोई नेता जाता है तो वह पुलिस की निगरानी में रहेगा। सैकड़ों साल पुराने इस ऐतिहासिक मेले में यह पहली बार होगा। जब मेले से सियासी तस्वीरें नहीं दिखेंगी।

अयोध्या फैसला आने के बाद संवेदनशीलता को देखते हुए एसएचओ ईसानगर सुनील कुमार सिंह ने विधायक बाला प्रसाद अवस्थी,पूर्व विधायक शमशेर बहादुर और यशपाल चौधरी समेत अन्य राजनैतिक हस्तियों से वार्ता की। किसी तरह के बवाल से बचने के लिए एसएचओ ने क्षेत्र के प्रमुख नेताओं से इस बार मेले में अपने पांडाल न लगाने का अनुरोध किया। नेताओं ने व्यवस्था बनाए रखने की कोशिश में साथ देते हुए मेले को सियासी रंग का देने की हामी भरी है। इस बाबत एसएचओ सुनील कुमार सिंह ने बताया कि मेले में नेताओं के जाने पर कोई पाबंदी नहीं है। अलबत्ता जो भी नेता मेले में जाएंगे वो पुलिस की सुरक्षा और निगरानी में रहेंगे।

बताते चलें कि धौरहरा क्षेत्र के ईसानगर ब्लॉक मुख्यालय के पास घाघरा नदी के तट पर लगने वाले इस प्राचीन और ऐतिहासिक मेले का धार्मिक और आध्यात्मिक महत्व है। जहां विभिन्न राजनैतिक पार्टियों से जुड़े लोग अपने विशाल पांडाल लगाकर भारी जमावड़ा करते थे। इन पंडालों में भीड़ जुटाकर नेता एक तरह से अपना शक्ति प्रदर्शन भी करते थे। पर इस मर्तबा जिले में धारा 144 लागू होने से ठुठवा मेले में सियासी रंग नहीं दिखेगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Section 144 implemented political pandals will not be held in Tuthwa fair