ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेश लखीमपुरखीरीआंधी के साथ झमाझम बारिश से मिली राहत

आंधी के साथ झमाझम बारिश से मिली राहत

शनिवार सुबह 6 बजे अचानक हवा की गति बढ़ गई। हवाओं के साथ आसमान में काले बादल छा गए। तेज हवाओं के साथ धूल भरी आंधी के बाद हुई बारिश ने घरों में गर्मी...

आंधी के साथ झमाझम बारिश से मिली राहत
हिन्दुस्तान टीम,लखीमपुरखीरीSat, 11 May 2024 10:45 PM
ऐप पर पढ़ें

लखीमपुर। शनिवार सुबह 6 बजे अचानक हवा की गति बढ़ गई। हवाओं के साथ आसमान में काले बादल छा गए। तेज हवाओं के साथ धूल भरी आंधी के बाद हुई बारिश ने घरों में गर्मी से परेशान लोगों को छतों पर ला दिया। बारिश के कारण शहर के कई इलाकों में बिजली गुल हो गई। हालांकि सुबह चली ठंडी हवाओं से तापमान में गिरावट दर्ज की गई। मौसम के जानकारों का कहना है कि एक दो दिन इसी तरह मौसम बना रहेगा। मतदान के दिन 13 मई को यहां बारिश होने के आसार हैं।
जिले में शनिवार को सुबह आसमान में बादल छा गए। जिसके बाद आंधी के साथ इस वर्ष पहली झमाझम बारिश हुई। मौसम विभाग ने शुक्रवार को ही जिले में बारिश होने की आशंका जताई थी। मौसम में हुए बदलाव से गर्मी के मौसम में और गिरावट हुई। मौसम विभाग के अनुसार जिले में अधिकतम तापमान 35 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। वहीं न्यूनतम तापमान 25 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। ऐसे में दिन के समय मौसम पूरी तरह से सुहावना हो गया। सुबह के समय लोगों को ठंडी का भी अहसास हुआ। मौसम वैज्ञानिक का कहना है कि 2 दिनों तक इसी तरह के मौसम की स्थिति रहेगी। हालांकि सुबह हुई झमाझम बारिश के बाद दिन में धूप भी निकल आई पर हवाओं में ठंडक का अहसास फिर भी लोगों को होता रहा। शाम होते होते मौसम फिर हल्का गर्म हो गया। मौसम वैज्ञानिकों की माने तो अगले दो दिन रुक-रुक कर हल्की बारिश होते रहने की संभावना है।

गन्ने की फसल के लिए लाभदायक है बारिश

इस समय गेहूं की फसल लगभग कट चुकी है। किसान इस समय गन्ने की बोआई का काम कर रहे है। किसानों का कहना है कि शनिवार को हुई तेज बारिश गन्ने की बोआई के लिए फायदेमंद है। ये पहली बारिश गन्ने की खेती को लाभ पहुंचाएगी।

आंधी से बाग स्वामियों को हुआ नुकसान, गुल रही इलाके की बिजली

गोला गोकर्णनाथ। शनिवार की सुबह आए आंधी से आम के बाग स्वामियों को नुकसान हुआ है। किसानों को लाभ पहुंचा है, पर ग्रामीण इलाके की बिजली गुल हो जाने से पूरे दिन लोग परेशान हुए। शनिवार की सुबह अचानक आए आंधी से तमाम लोगों के छप्पर उड़ गए। हालांकि गोला शहर में आंधी का कोई खास असर नहीं दिखा। जबकि ग्रामीण इलाके में तेज आंधी के साथ बारिश भी हुई। आंधी से बाग स्वामियों को फसल का नुकसान हुआ। वहीं किसानों की फैसल को पानी मिल जाने से उन्हें लाभ पहुंचा है। हालांकि बिजली गुल हो जाने से पूरे दिन लोग परेशान रहे। बिजली महकमे के अधिकारी और कर्मचारी हाथ पैर हाथ धरे बैठे रहे।

आंधी से गुल हुई बिजली, बारिश से सुहाना हुआ मौसम

मितौली। मौसम ने शनिवार सुबह अचानक करवट बदली। आंधी से जहां आम की फसल को नुकसान हुआ है वहीं तेज हवाओं के साथ बारिश से मौसम सुहाना हो गया। इससे गर्मी से लोगों को राहत मिली। वहीं आंधी से गुल हुई बिजली 7 घंटे बाद भी बहाल न होने से लोग परेशान दिखें। वहीं आंधी की वजह से कस्बे से क्षेत्र के दर्जनों गांवों की बिजली गुल हो गई। पता चला कि तेज हवाओं की वजह से पावर हाउस को आने वाली हाईटेंशन लाइन ब्रेक डाउन हो गई। इससे लोगों को दिक्कतों का सामना करना पड़ा। दिन में तीखी धूप से लोग बिलबिला उठे। बिजली न होने से लोग पानी तक को तरस गए। पहली ही आंधी में बिजली विभाग की तैयारियों की पोल खुल गई। सुबह 10 बजे गुल हुई बिजली शाम 5 बजे तक भी बहाल नहीं हो सकी। इससे लोगों को दिक्कतों का सामना करना पड़ा। बिजली विभाग के लोग सुबह से ही जल्द सप्लाई बहाल होने का भरोसा दे रहे हैं। लेकिन 7 घंटे बाद भी बिजली बहाल नहीं हो सकी।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।