ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेश लखीमपुरखीरी491 गांवों की दो लाख से ज्यादा आबादी तक पहुंचा शुद्ध पानी

491 गांवों की दो लाख से ज्यादा आबादी तक पहुंचा शुद्ध पानी

शहरों की तरह गांवों के लोगों को भी पाइप लाइन से स्वच्छ पेयजल मुहैया कराने को चलाए जा रहे जलजीवन मिशन के तहत जिले की 319 ग्राम पंचायतों के 491 गांवों...

491 गांवों की दो लाख से ज्यादा आबादी तक पहुंचा शुद्ध पानी
default image
हिन्दुस्तान टीम,लखीमपुरखीरीTue, 18 Jun 2024 02:00 AM
ऐप पर पढ़ें

लखीमपुर। शहरों की तरह गांवों के लोगों को भी पाइप लाइन से स्वच्छ पेयजल मुहैया कराने को चलाए जा रहे जलजीवन मिशन के तहत जिले की 319 ग्राम पंचायतों के 491 गांवों तक पाइप लाइन से शुद्ध पेयजल पहुंचाया जा चुका है। जलजीवन मिशन के फेज-3 का काम चल रहा है। घरों तक पाइप लाइन से पानी पहुंचने अब गांव वालों को आर्सेनिक युक्त पानी नहीं पीना पड़ेगा। जिले में जो नल लगे थे उनके पानी की जांच में आर्सेनिक की मात्रा ज्यादा मिलने पर इन नलों पर लाल निशान लगाकर बंद कर दिया गया था। इसके बाद सरकार ने हर घर नल से जल को लेकर जलजीवन मिशन की शुरुआत की। इसका काम जिले में तेजी से चल रहा है।

खीरी जिले के पानी में आर्सेनिक की मात्रा ज्यादा होने के कारण यह पानी पीकर लोग बीमारियों की चपेट में आ रहे थे। पानी की जांच के बाद के बाद आर्सेनिक से मुक्ति के लिए गांवों में भी पाइप लाइन से पानी पहुंचाने की योजना की शुरुआत 2019 में हुई। जलजीवन मिशन के तहत गांवों में ओवरहेड टैंक बनाने और पाइप लाइन डालने का काम चल रहा है। जल जीवन मिशन के तहत हर घर नल से जल योजना की शुरुआत के बाद अब इस योजना में फेज-तीन का काम चल रहा है। ओवरहेड टैंक बनाने के साथ ही लोगों को जागरूक करने और कनेक्शन देने का काम भी तेजी से चल रहा है। कार्यदायी संस्था विंध्या टेलीलिंक्स के प्रोजेक्ट मैनेजर सुरेंद्र कुमार के मुताबिक जिले में करीब 90 करोड़ की परियोजनाओं का काम पूरा हो गया है। 70 ओवरहेड टैंक बनाकर पानी की सप्लाई शुरू कर दी गई है। वहीं कई ग्राम पंचायतें व गांव ऐसे हैं जहां ओवरहेड टैंक निर्माण से पहले बोरिंग करके और पाइप लाइन डालकर सीधे पानी की सप्लाई शुरू की गई है। इनका ट्रायल का काम भी पूरा हो गया है। खीरी जिले की 319 ग्राम पंचायतों के 491 राजस्व गांवों में पाइप लाइन से पानी की आपूर्ति शुरू हो चुकी है। लोगों के घरों तक पाइप लाइन पहुंचाकर एक टंकी लगवाई गई है। इससे करीब दो लाख की आबादी को स्वच्छ पानी मिलने लगा है। अधिशासी अभियंता जलनिगम वाईके नीरज का कहना है कि जलजीवन मिशन के तहत जिले में तेजी से काम चल रहा है। लोगों को स्वच्छ पेयजल उपलब्ध कराया जा रहा है।

इन ग्राम पंचायतों के घरों तक पहुंचा पानी

लखीमपुर ब्लॉक की ग्राम पंचायत मुड़िया खेड़ा, खेतौसा, पीरपुर, नकहा की पटेहरा सुंधा, जमकोहना, सलहनापुर में पाइप लाइन से आपूर्ति शुरू है। ब्लॉक फूलबेहड़ की कंचनपुर, बिलरिया, अंबूपुर बहेरवा, ब्लॉक कुंभी के गफ्फार नगर, देवकली, बांसगांव, अलियापुर सहित अन्य ग्राम पंचायतों में पानी की आपूर्ति शुरू हो गई है।

बिजली न होने पर सोलर से चल रहे पम्प

पेयजल आपूर्ति में दिक्कत न हो इसके लिए सभी पम्पों पर सोलर पावर प्लांट लगाए गए हैं। बिजली न होने पर सोलर से यह पम्प चलते हैं। इससे बिजली की समस्या होने पर भी पेयजल गांव वालों को उपलब्ध रहेगा। पानी का प्रयोग करने के बाद टोटियां जरूर बंद कर दें।

जलजीवन मिशन फेज-3 का काम चल रहा है। जिले की 319 ग्राम पंचायतों के 491 गांवों तक पेयजल आपूर्ति शुरू कर दी गई है। बाकी ग्राम पंचायतों में तेजी से काम चल रहा है।

- सुरेन्द्र कुमार, प्रोजेक्ट मैनेजर विंध्या टेलीलिंक्स

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।