Punishment for husband and mother-in-law in dowry murder - दहेज हत्या में पति और सास ससुर को सजा DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दहेज हत्या में पति और सास ससुर को सजा

दहेज मे मोटरसाइकिल और रुपये न मिलने पर विवाहिता को जहर पिलाकर मौत के घाट उतारने के एक मामले में सुनवाई करते हुए कोर्ट ने आरोपी पति और सास ससुर को दोषी करार दिया है।

विशेष न्यायाधीश श्यामलाल कोरी ने तीनों को दस दस साल के कारावास की सजा सुनाई है। साथ ही तीनों को पांच पांच हजार रुपये जुर्माना भरने का भी आदेश दिया है। एडीजीसी प्रमोद कुमार सिंह ने बताया कि हैदराबाद थाना क्षेत्र के अशरफीगंज की रहने वाली रेशमावती ने अपनी बेटी वीना उर्फ़ सुनीता का विवाह वर्ष 2006 में नीमगांव के रहने वाले सर्वेंद्र कुमार वर्मा के साथ किया था।

सर्वेंद्र और उसके घर वाले दहेज में मोटरसाइकिल और रुपयों की खातिर वीना को प्रताड़ित करते थे। शादी के महज डेढ़ साल बाद ससुरालियों ने उसकी जहर पिलाकर हत्या कर दी। थाने पर रिपोर्ट दर्ज न होने पर रेशमावती ने अदालत के माध्यम से मामला दर्ज कराया तो पुलिस ने विवेचना के बाद पति सर्वेंद्र कुमार, ससुर सत्यराम और सास लज्जावती के खिलाफ आरोपपत्र दाखिल किया। कोर्ट में मामले को साबित करने के लिए वादिनी रेशमावती, सुनील कुमार और दिनेश कुमार समेत कई गवाहों को पेश किया गया। अदालत ने दोनों पक्षों को दलीलें सुनने के बाद आरोपी पति और सास ससुर को दहेज हत्या का दोषी पाते हुए सजा सुना दी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Punishment for husband and mother-in-law in dowry murder