DA Image
26 अक्तूबर, 2020|8:32|IST

अगली स्टोरी

धरी रह गईं तैयारियां, फिलहाज डिजिटल के सहारे ही पढ़ाई

धरी रह गईं तैयारियां, फिलहाज डिजिटल के सहारे ही पढ़ाई

लॉकडाउन समाप्त हो गया है। धीरे-धीरे सबकुछ लगभग खुल गया लेकिन स्कूल कालेजों के खुलने के अभी कोई आसार नजर नहीं आ रहे हैं। 21 सितम्बर से कक्षा नौ से इंटर तक के छात्र-छात्राओं की पढ़ाई शुरू होने की उम्मीद में कालेजों ने तैयारियां कर ली थी, लेकिन तैयारियां धरी रह गईं। स्कूल कालेजों में शिक्षण की शुरुआत को लेकर अभी कोई आदेश जारी नहीं हुआ है। स्कूल वाले परेशान हैं। फिलहाल अभी ऑनलाइन क्लास की व्यवस्था को ही चलाना होगा। जब तक सरकार कोई आदेश नहीं कर रही है।

मार्च महीने में कोरोना संक्रमण रोकने के लिए सरकार ने लॉकडाउन किया। लॉकडाउन के बाद से स्कूल कालेज बन्द हो गए हैं। हालांकि बाजार खुल गया है। आवागमन शुरू हो गया है। सरकारी दफ्तरों में पहले की तरह कामधाम शुरू है। वहीं तहसील व थाना समाधान दिवस, जनता दर्शन भी शुरू हो चुके हैं। ऐसे में स्कूल संचालक इस उम्मीद में थे 21 सितम्बर से स्कूल कालेज, कोचिंग संस्थान खुल जाएंगे। इसको लेकर तैयारियां भी कर ली थी। स्कूलों के गेटों पर कोविड हेल्पडेस्क तैयार कराई। सेनेटाइजर की व्यवस्था की। स्कूल संचालकों को उम्मीद थी कि स्कूल खुलेंगे शिक्षण कार्य शुरू होगा। भले ही कक्षा नौ से इंटर तक की पढ़ाई शुरू होगी। इसमें छात्रों को दूरी के मानकों के अनुसार बिठाया जाएगा। इसके लिए सीटिंग प्लान तक कई स्कूल संचालकों ने तैयार कर लिया। रविवार की शाम तक इस बात का इंतजार रहा कि सरकार की ओर से कोई आदेश जारी होगा। लेकिन सरकार ने स्कूल कालेजों को खोलने का कोई आदेश फिलहाल अभी जारी नहीं किया है। न तो इस बात की उम्मीद है कि कब से स्कूल कालेज खुलेंगे। स्कूल संचालक बताते हैं कि कालेज खुल जाएं तो शिक्षण व्यवस्था सुचारु हो सके। ऑनलाइन क्लास चल रही हैं लेकिन इसमें छात्रों की उपस्थिति में नेटवर्क समस्या, मोबाइल की समस्या आ रही है।

बाक्स

कोचिंग संस्थान भी किए थे खोलने की तैयारी

-स्कूल कालेज ही नहीं कोचिंग संचालक भी इस उम्मीद में थे कि 21 से कोचिंग खुल सकेंगी। इसके लिए तैयारियां भी की थी। यहां भी बच्चों का रजिस्ट्रेशन व्यवस्था की थी, लेकिन कोई आदेश न होने से कोचिंग संचालक भी मायूस दिख रहे हैं। कई कोचिंग संचालक ऑनलाइन क्लास ले रहे हैं।

अभी ऑनलाइन शिक्षण ही चलेगा

-स्कूल कालेज खुलने का कोई आदेश नहीं है। ऐसे में अभी पढ़ाई ऑनलाइन ही चलती रहेगी। स्कूल संचालकों ने कालेज बन्द होने के बाद ऑनलाइन क्लास की व्यवस्था की है। हालांकि यह खानापूर्ति ही साबित हो रहा है। कुछ कालेज वाट्सएप पर होमवर्क भेज रहे हैं तो कुछ ने अपना पोर्टल बना रखा है। उस पर होमवर्क भेज रहे हैं। छात्र-छात्राएं यह होमवर्क करके अपलोड करते हैं लेकिन इसको चेक करे दुबारा छात्र-छात्राओं को न भेजने से उनकी समझ में नहीं आ रहा है। वहीं जो कालेज ऑनलाइन क्लास चला रहे हैं वह भी खानापूर्ति दिख रहा है। कई बार नेटवर्क बाधित होने से छात्र-छात्राएं मोबाइल लिए बैठे रहते हैं क्या पढ़ाया गया यह समझ ही नहीं आता है।

बोले डीआईओएस

स्कूल कालेज खुलने और शिक्षण कार्य शुरू करने को लेकर सरकार से कोई आदेश नहीं आया है। जब आदेश आएगा तभी खुल सकेंगे। कोराना संक्रमण के मामले लगातार बढ़ रहे हैं ऐसे में सरकार जो आदेश करेगी उसे लागू कराया जाएगा।

हयात अली अंसारी, डीआईओएस

बोले बीएसए

-स्कूल खुल तो रहे हैं, शिक्षण कार्य नहीं हो रहा है। सरकार जो आदेश करेगी उसका पालन कराया जाएगा। अभी तक स्कूलों में शिक्षण कार्य को लेकर कोई भी आदेश नहीं है।

बुद्धप्रिय सिंह, बीएसए

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Preparations were kept away Philhaj studied only with digital