Operation Monsoon Employees working on patrolling of Dudhwa - ऑपरेशन मानसून: पैदल गश्त कर दुधवा की सुरक्षा करने में जुटे कर्मचारी DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

ऑपरेशन मानसून: पैदल गश्त कर दुधवा की सुरक्षा करने में जुटे कर्मचारी

ऑपरेशन मानसून: पैदल गश्त कर दुधवा की सुरक्षा करने में जुटे कर्मचारी

दुधवा टाइगर रिजर्व के बंद होने के बाद पार्क प्रशासन ने ऑपरेशन मानसून को लेकर पूरी तैयारी कर ली हैं। शिकारियों से निपटने के लिए खास तरीके से पेट्रोलिंग शुरू की गई है। लॉग रोड पेट्रोलिंग के तहत दुधवा, वन विभाग के साथ स्पेशल टाइगर प्रोटेक्शन फोर्स के जवान भी रोजाना 25 से 30 किमी पैदल गश्त करने में जुट गए हैं।

बारिश के मौसम में दुधवा पर शिकारियों की नजर गड़ जाती है। पर्यटकों के लिए बन्द हो चुके पार्क की दलदली जमीन पर सामान्य गश्त नहीं हो पाती। शिकारी इसका फायदा उठा लेते हैं। दुधवा के फील्ड डायरेक्टर रमेश कुमार पांडे ने दुधवा में ऑपरेशन मानसून के लिए बड़ी प्लानिंग के तहत गश्त शुरु कर दी है। एलआरपी पेट्रोलिंग के तहत दुधवा पार्क के कर्मचारियों के अलावा में स्पेशल टाइगर प्रोटक्शन फोर्स रोजाना पैदल निर्धारित दूरी तक गश्त कर रही है। बता दें कि प्रदेश के इकलौते वन्यजीव अभ्यारण्य में मानसून सत्र के दौरान वन और वन्य जीवों की सुरक्षा को लेकर हर साल ऑपरेशन मानसून चलाया जाता है।

इसलिए जरूरी है अभियान

मानसून सत्र के दौरान भारी बारिश और जलभराव के कारण दुधवा के कच्चे वनमार्ग अवरुद्ध हो जाते हैं। इससे वनकर्मियों को जंगल के अंदर गश्त करने में दिक्कत उठानी पड़ती है। जिसका फायदा उठाकर अराजकतत्व जंगल के अंदर चोरी छिपे घुस आते हैं और जंगल के अंदर वन एवं वन्य जीवों को भारी नुकसान पहुंचाने के प्रयास में जुट जाते हैं। ऐसे अराजकतत्वों पर अंकुश लगाने के लिए दुधवा में प्रति वर्ष आपरेशन मानसून अभियान चलाया जाता है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Operation Monsoon Employees working on patrolling of Dudhwa