DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   उत्तर प्रदेश  ›  लखीमपुरखीरी  ›  अब खीरी में जल्द बनना शुरू होगा मेडिकल कालेज

लखीमपुरखीरीअब खीरी में जल्द बनना शुरू होगा मेडिकल कालेज

हिन्दुस्तान टीम,लखीमपुरखीरीPublished By: Newswrap
Tue, 23 Feb 2021 03:31 AM
अब खीरी में जल्द बनना शुरू होगा मेडिकल कालेज

लखीमपुरखीरी।

यूपी सरकार के पेश किये गये बजट में प्रस्तावित मेडिकल कालेजों के लिए बजट दिया गया है। इससे अब जल्द ही खीरी जिले में बनने वाले मेडिकल कालेज का निर्माण शुरू होने की आस जगी है। इसके बनने के बाद जिले में इलाज कराने को लेकर स्वास्थ्य सेवाएं और भी बेहतर हो जाएंगी।

केंद्र सहायतित योजना इस्टैबलिशमेंट ऑफ न्यू मेडिकल कालेजेज अटैच्ड विद एक्सिस्टिंग डिस्ट्रिक्ट/रेफरल हास्पिटल (फेज 3) के तहत जिला चिकित्सालय को उच्चीकृत कर राजकीय मेडिकल कॉलेज बनाया जाएगा, जिसके साथ ही सैदापुर भाऊ में कॉलेज के मुख्य भवन का निर्माण कराया जाएगा। शासन जून 2020 में मेडिकल कॉलेज के निर्माण का कार्य प्रारंभ कराने के लिए 20 करोड़ रुपये बजट जारी कर चुका है। तब कार्यदायी संस्था लॉकडाउन के बाद निर्माण कार्य प्रारंभ कराना चाहती थी, लेकिन इसी बीच सत्तारूढ़ दल के नेताओं ने सैदापुर के बजाय दुधवा स्टेट हाईवे स्थित गांव ताहिरपुर में मेडिकल कॉलेज बनाने की मांग करते हुए चिकित्सा शिक्षा विभाग के मंत्री सुरेश खन्ना को पत्र लिखा था। उनकी मंशा थी कि मेडिकल कॉलेज उनके मनमाफिक गांव में स्थानांतरित हो जाए, जिससे उस इलाके की जमीनों के दाम बढ़ने पर वे लाभ उठा सकें। इस मामले के बाद मेडिकल कॉलेज फाइलों के जाल में उलझता नजर आने लगा। हिन्दुस्तान ने मेडिकल कॉलेज की जमीन बदलवाने के मामले में कई खबरें छापीं। इस मांग के चलते विशेष सचिव ने नेताओं के सुझाए स्थल की आख्या डीएम से मांगी थी। कई महीने तक चले गतिरोध के बाद शुक्रवार को कैबिनेट ने लखीमपुर समेत 13 जिलों में मेडिकल कॉलेज के निर्माण कार्य शुरू करने को हरी झंडी दे दी। इससे मेडिकल कॉलेज को स्थानांतरित करने की नेताओं की मंशा पर पानी फिर गया।

मानकों में संशोधन से बढ़ी लागत

सैदापुर में प्रस्तावित मेडिकल कॉलेज के निर्माण के लिए व्यय वित्त समिति ने पहले 233.1377 करोड़ बजट स्वीकृत किया था। इस बीच एमसीआई की गाइड लाइन के मुताबिक कॉलेज में लेक्चर रूम और क्लास रूम के निर्माण में मानकों को संशोधित किया है, जिससे निर्माण की लागत में करीब 55 करोड़ की वृद्धि हुई है। अधिशासी अभियंता देवेंद्र सिंह ने बताया कि एमसीआई के मानक एवं ले-आउट प्लान के अनुरूप कार्य कराने का उत्तरदायित्व चिकित्सा शिक्षा एवं प्रशिक्षण लखनऊ को सौंपा गया है। उन्हीं के अनुसार नक्शा, एस्टीमेट में संशोधन किया गया है। इससे अब मेडिकल कॉलेज के निर्माण पर कुल 2.88 अरब लागत आएगी।

पीडब्लूडी विभाग कराएगा निर्माण

जिले में बनने वाले मेडिकल कालेज का निर्माण कराने की जिम्मेदारी पीडब्लूडी विभाग को दी गई है। इसके चलते विभाग ने टेंडर भी जारी किया है। इसमें दो कंपनियों ने टेंडर डाला है। जल्द ही किसी एक को इनका एलाटमेंट शुरू करा दिया जाएगा।

खीरी के साथ इन जगहों के लिए बजट

बिजनौर, कुशीनगर, सुल्तानपुर, गोंडा, ललितपुर,चन्दौली, बुलंदशहर, सोनभद्र, पीलीभीत, औरेया, कानपुर देहात, कौशांबी

संबंधित खबरें