ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेश लखीमपुरखीरीसेवा ही नहीं अब वेतन भी मानव संपदा पोर्टल से मिलेगा

सेवा ही नहीं अब वेतन भी मानव संपदा पोर्टल से मिलेगा

शिक्षकों को अब हर महीने पावना, वहीं अन्य विभागों के कर्मचारियों को उपस्थिति प्रमाणपत्र के साथ ही पटल सहायकों को वेतन बिल बनाने के लिए नहीं कहना...

सेवा ही नहीं अब वेतन भी मानव संपदा पोर्टल से मिलेगा
हिन्दुस्तान टीम,लखीमपुरखीरीFri, 22 Dec 2023 11:15 PM
ऐप पर पढ़ें

लखीमपुर। शिक्षकों को अब हर महीने पावना, वहीं अन्य विभागों के कर्मचारियों को उपस्थिति प्रमाणपत्र के साथ ही पटल सहायकों को वेतन बिल बनाने के लिए नहीं कहना होगा। शिक्षकों का पूरा विवरण मानव संपदा पोर्टल पर दर्ज किया जा रहा है। इसी पोर्टल पर कर्मचारियों की सेवा पुस्तिका भी ऑनलाइन की जा रही है। सभी विवरण फीड होने के बाद कर्मचारियों का वेतन बिल मानव संपदा पोर्टल से ही जारी हो जाएगा और कर्मचारियों के खाते में वेतन पहुंच जाएगा।
बेसिक शिक्षा विभाग के शिक्षकों का वेतन मानव संपदा पोर्टल से जारी हो रहा है। वहीं सरकार ने अब सभी विभागों के लिए मानव संपदा पोर्टल पर कर्मचारियों का विवरण सर्विस बुक, जन्मतिथि, विभाग में ज्वाइनिंग, इंक्रीमेंट, कटौती, अवकाश आकस्मिक अवकाश आदि बिंदुओं को दर्ज करना है। मानव संपदा पोर्टल से ही हर महीने कर्मचारियों का वेतन बिल जारी होगा। इसमें बेसिक शिक्षा विभाग के शिक्षकों का डाटा पिछले एक साल से मानव संपदा पोर्टल पर है, लेकिन अन्य विभागों के कर्मचारियों का डाटा अब मानव संपदा पोर्टल पर अपलोड करने का निर्देश दिया गया है। इसके लिए 31 दिसम्बर तक का समय दिया गया है। शासन ने स्पष्ट निर्देश दिया है कि दिसम्बर महीने का वेतन मानव संपदा पोर्टल से ही जारी किया जाएगा। ऑनलाइन यह व्यवस्था होने के बाद जिले के शिक्षा विभाग, पुलिस सहित सभी विभागों के करीब 35 हजार कर्मचारियों का वेतन बिल अब आफ लाइन माध्यमों से जारी नहीं होगा। वरिष्ठ कोषाधिकारी अमित कुमार राय ने बताया मानव संपदा पोर्टल पर कर्मचारियों का डाटा अपलोड करने का शासन ने निर्देश दिया है। इसके लिए 31 दिसम्बर तक का समय दिया गया है। अगर किसी विभाग का डाटा फीड नहीं हुआ तो उस विभाग का वेतन बाधित हो जाएगा।

सर्विस बुक ही नहीं वेतन भुगतान भी जुड़ा पोर्टल से

मानव संपदा पोर्टल पर अब तक अधिकारियों व कर्मचारियों के सेवा से जुड़े हुए दस्तावेज अपलोड थे। अब कर्मचारियों के वेतन भुगतान को भी केन्द्रीयकृत करते हुए मानव संपदा पोर्टल से जोड़ दिया गया है। ऐसे में मानव संपदा पोर्टल पर कोई भी अभिलेखीय त्रुटि वेतन भुगतान में गंभीर समस्या खड़ी कर सकत है। इसीलिए सभी विभागों को निर्देश दिया गया है कि वे 31 दिसम्बर तक अधिकारियों, कर्मचारियों के मूलवेतन, वेतनमान, पे-बैंड, अनुशासनात्मक कार्रवाई, अवकाश आदि का पूरा विवरण पूरी तरह से दुरुस्त कर लें। वरिष्ठ कोषाधिकारी ने बताया कि यह व्यवस्था पूरी तरह से पारदर्शी हो जाएगी। कर्मचारी के पास पूरा विवरण मौजूद रहेगा।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।