DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

खीरी में गोमती को भागीरथ की तलाश

खीरी में गोमती को भागीरथ की तलाश

दस नदियों वाले तराई के जिले खीरी में गोमती नदी की हालत खस्ता है। पीलीभीत से आने वाली गोमती मोहम्मदी इलाके में आते-आते नाले में तब्दील हो चुकी है। एक जमाने में गोमती पार करने के लिए पुल बनाए गए थे, आज उसी पुल के नीचे गोमती के अंदर खेती हो रही है। उसके पास की जमीन पर कब्जे हो चुके हैं। जिन गांवों के पास तक गोमती की धारा बहती थी, वहां अब कच्चे रास्ते बन चुके हैं। खीरी में गोमती के उद्धार के लिए कोई भागीरथ सामने नहीं आ रहा है। गोमती की यह हालत तब है, जब जिले की आठ नदियों पानी से लबालब हैं। खीरी जिले में छोटी बड़ी 10 नदियां हैं। साल भर इन नदियों में पानी की धारा बहती रहती है लेकिन बरसात के दिनों में यह नदियां आधे जिले के लिए परेशानी का सबब बन जाती हैं।

बाढ़ व कटान के रूप में कहर बनकर यह नदियां टूटती हैं। कई गांव कट चुके हैं। सैकड़ों एकड़ जमीन इन नदियों के पेट में समा चुकी है। घर कटने के बाद लोग सड़कों के किनारे अब भी डेरा डालकर रह रहे हैं। नेपाल से आने वाली नदियां मोहाना और कर्णाली नदियां भी बरसात के दिनों में कहर बरपाती हैं। इन सबके बीच जिले से निकली गोमती नदी के वजूद पर संकट मंडराने लगा है। पीलीभीत से जिले की सीमा में आने वाली गोमती नदी अब नाला बन चुकी है। इस नदी के लिए अब भागीरथ की जरूरत है। नदी की हालत यह है कि यह कई जगहों पर सूख चुकी है। वहीं कई जगहों पर नाले के रूप में तब्दील हो चुकी है। हालांकि इस नदी को पुराने रूप में लाने के लिए वाइल्ड लाइफर प्रख्यात फोटोग्राफर सतपाल सिंह लगे हैं।

लगातार मुहिम चलाकर इस नदी की सफाई करवाने में जुटे हैं। खीरी जिले में हैं दस नदियां-खीरी जिले में शारदा, घाघरा, उल्ल, कठिना, सरायन, गोमती, सुहेली हैं। इसके अलावा नेपाल से आने वाली नदी मोहाना और कर्णाली नदियां भी जिले में बह रही हैं। शारदा, घाघरा और मोहाना व कर्णाली नदियां बरसात में कहर बरपाती हैं। बरसात के दिनों में हाहाकारी रूप ले लेती हैं। इसमें मोहाना नदी का जलस्तर अभी से इतना तेज है कि दो दिन पहले ही दो बच्चों की डूबकर मौत हो चुकी है। इन नदियों को पार करने के लिए लोग डरा करते हैं। वहीं अन्य नदियां बरसात के दिनों में तबाही मचाती हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Looking for Gomti's Bhagirath in Kheri