DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

भोल के जलाभिषेक को लगीं लम्बी-लम्बी कतारें

भोल के जलाभिषेक को लगीं लम्बी-लम्बी कतारें

सावन के दूसरे दिन शिव मंदिर में भक्तों की भीड़ उमड़ी। भक्तों ने कतारबद्ध होकर पूजा अर्चना की। सावन माह में देवों के देव महादेव की पूजा अर्चना का विशेष महत्व होता है। जिस कारण शिवालयों और शिव मंदिरों में भक्तों की भारी भीड़ जुटती है। माना जाता है कि सावन माह में भगवान शिव कैलाश पर्वत से पृथ्वी पर भ्रमण पर आते हैं। भक्त अवढरदानी को खुश करने के लिए तमाम जतन करते हैं।

शिव भक्त, बेलपत्र, धतूरा, फूल, सफेद मदार, भांग, गंगाजल, दूध, शहद अर्पित कर पूजन अर्चन करते हैं। सावन के दूसरे दिन रविवार को शिव मंदिर में भक्तों की भीड़ उमड़ी लोगों को कतारबद्ध होकर पूजा अर्चना करनी पड़ी। सुरक्षा व्यवस्था के लिए पुलिसबल तैनात रहा। इसी तरह शहर से लगभग पांच किलो मीटर दूर ग्राम अहमदनगर में स्थिति बाबा क्लेशहरण मंदिर पर भक्तों की भीड़ जुटी रही। लोगों ने विधि विधान से पूजन अर्चन कर अपने आराध्य को याद किया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Long-long queues for Bhol's Jalabhishek