DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बच्चे सौंपकर जा रहे हैं, ख्याल रखना

बच्चे सौंपकर जा रहे हैं, ख्याल रखना

कर्नाटक से दुधवा लाए गए हाथियों के साथ आए महावतों की मंगलवार को विदाई हो गई। विदाई से पहले ये महावत हाथियों के पास गए। उन पर हाथ फेरा। हाथियों ने भी प्यार से सूड़ उनके सिर पर रखी। फिर आंख में आंसू भरकर झोला कंधे पर डाल लिया। कुछ पल ठिठक कर कर्नाटक के महावतों ने दुधवा के अफसरों से कहा-सर, बच्चे सौंपकर जा रहे हैं, ख्याल रखना।कर्नाटक सरकार ने दुधवा को दस हाथियों का तोहफा दिया है। इन हाथियों के साथ कर्नाटक के महावत भी आए थे। ये हाथियों के साथ ही एलीफैंट कैंप में रह रहे थे।

हाथियों और उनके महावतों के बीच कोई इंसान व जानवर का रिश्ता नहीं था। सभी हाथी अपने महावत और महावत अपने हाथियों को अपने परिवार की तरह मानते थे। सालों से यह मोहब्बत अपने हाथियों को ट्रेनिंग के अलावा उनके खानपान आदि की पूरी देखभाल रहे थे। महावतों के अनुसार उन्होंने इन हाथियों को अपने बच्चों की तरह पाला था। अपने हाथियों को छोड़कर जाने पर जो दुख उन्हें हो रहा है उसे वह बयां नहीं कर सकते। सभी महवतों ने अपने हाथियों को जैसे ही गले लगाया तो उनकी आंखे नम होने से नहीं रह सकीं। इस दृश्य को देख मौजूद दुधवा के पार्क कर्मचारी भी भावुक हो उठे।

बिगड़ैल हाथियों को संभालेंगे महावत: कर्नाटक के कुछ इलाकों में इन दिनों जंगली हाथियों का तांडव चल रहा है जंगली हाथी बस्तियों में घुसकर लोगों को अपने पैरों तले कुचल कर मार रहे हैं। उन बिगड़ैल जंगली हाथियों को काबू में करने के लिए दुधवा आए कर्नाटक के महत्व को जिम्मेदारी सौंपी गई है। कर्नाटक के महत्व के अनुसार कर्नाटक के जिला चिकमगलूर एवं जिला कैमनगुंडी में कई लोगों की जान लेने वाले जंगली हाथियों को पकड़ने का काम उन्हें सौंपा गया है। वह जंगली हाथियों को काबू में करने का काम करेंगे महवतो को दुधवा पार्क के अधिकारी व कर्मचारियों ने विदाई देते हुए उनके व्यवहार व कार्यों की सराहना की।

भारी मन से छोड़कर गए कैंप: कर्नाटक से दुधवा पहुंचे हाथियों के दल के साथ हाय कुल 11 मामलों में चार महावतों को कुछ दिनों पूर्व भी विदाई दी जा चुकी थी। उसके बाद शेष बचे सात महावतों को सोमवार रात को दुधवा के उपनिदेशक महावीर कौजलगी, मैलानी सेंचुरी के रेंजर नसीम अहमद, डिप्टी रेंजर पतिराज सिंह ने डिनर पार्टी दी और मंगलवार की सुबह उन्हें उनके घर के लिए रवाना कर दिया गया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Keeping the kids, taking care