DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

ओयल में गरजी जेसीबी, मकान-दुकान ध्वस्त

ओयल में गरजी जेसीबी, मकान-दुकान ध्वस्त

1 / 2सीतापुर-लखीमपुर फोरलेन के लिए बुधवार को लोक निर्माण विभाग ने मकानों और दुकानों पर जेसीबी चली। ओयल कस्बे में तमाम मकान और दुकान लोकनिर्माण विभाग ने जमीदोज कर दी। इस दौरान जमकर हंगामा...

ओयल में गरजी जेसीबी, मकान-दुकान ध्वस्त

2 / 2सीतापुर-लखीमपुर फोरलेन के लिए बुधवार को लोक निर्माण विभाग ने मकानों और दुकानों पर जेसीबी चली। ओयल कस्बे में तमाम मकान और दुकान लोकनिर्माण विभाग ने जमीदोज कर दी। इस दौरान जमकर हंगामा...

PreviousNext

सीतापुर-लखीमपुर फोरलेन के लिए बुधवार को लोक निर्माण विभाग ने मकानों और दुकानों पर जेसीबी चली। ओयल कस्बे में तमाम मकान और दुकान लोकनिर्माण विभाग ने जमीदोज कर दी। इस दौरान जमकर हंगामा हुआ। व्यापारी जेसीबी के आगे लेटने की धमकी देने लगे, लेकिन फोर्स की वजह से वे मकान और दुकान नहीं बचा पाए।

लखीमपुर सीतापुर मार्ग पर फोर लेन निर्माण का कार्य वर्ष 2016 में प्रारम्भ हुआ था। जिसमें ओयल क्षेत्र में जिनकी जमीन अधिग्रहित की गई। उनको मुआवजा भी दिया गया। इसके बाद ढखवा बाजार जहां पर घनी अबादी वाले क्षेत्र अधिकतर मकान रोड के किनारे बने थे तथा उसी में व्यवसायिक प्रतिष्ठान भी थे। वहां पर सरकारी भवन तो तोड़ दिए गए। वहीं बाजार स्थित भवन व दुकान मालिकों ने जगह, भवन के मुआवजे देने की बात कही, जिसमें बात नहीं बनी तो मुआवजे को लेकर मकान व दुकान मालिक कोर्ट चले गए। इसके चलते कस्बे में कार्य बाधित हो गया था। लोक निर्माण विभाग, अन्य उच्चाधिकारियों तथा भवन व दुकान मालिकों से मुआवजे को लेकर कई बार वार्ता भी हुई, पर बात नहीं बनी। इसके चलते लगभग तीन वर्ष ढखवा बाजार क्षेत्र में निर्माण कार्य बाधित रहा।

दो दिन पहले दिया था अल्टीमेटम

17 जून को फिर लोक निर्माण के ने कस्बे में एनाउंस करवाया गया कि जो भी लोग लोक निर्माण की भूमि पर अतिक्रमण किये हुए हैं वह लोग अपना अतिक्रमण हटा लें। वरना 19 तारीख को अतिक्रमण हटा दिया जाएगा। मगर क्षेत्र के भवन व दुकान मालिकों ने अपने भवन नहीं तोड़े न ही अपनी दुकानें हटाई।

दस मीटर का लिया कब्जा

बुधवार सुबह दस बजे ओयल चौकी कोतवाली सदर थाना फरधान महिला थाना व थाना खीरी का भारी पुलिस फोर्स पहुंच गई व लोक निर्माण के अधिकारी व तहसीलदार सदर कानूनगो भी पहुंचे। सबसे पहले ढखवा बाजार सब्जी मंडी के निकट से अतिक्रमण हटाने का अभियान शुरू किया जिसमें सड़क के बीच से 10-10 मीटर जगह चिन्हित कर लोक निर्माण विभाग ने कार्रवाई शुरू कर दी।

नहीं दी सामान हटाने की मोहलत

इसके चलते कई दुकानदारों ने एक घंटे का समय सामान हटाने के लिए मांगा। विभाग के लोगों ने समय देने से मना कर दिया। कुछ दुकानदारों ने तो अपना सामान भी हटा लिया मगर चौकी के निकट स्थित मंजू मेडिकल स्टोर मालिक ने सामान नहीं हटाया। कुछ ही देर में लोक निर्माण की मशीनें उनके मेडिकल तक पहुंची व अपनी कार्रवाई शुरू की। इस कार्रवाई में लाखो की दवाएं व फर्नीचर मलबे के नीचे दब कर नष्ट हो गया।

विभाग पर भड़के व्यापारी

मेडिकल स्टोर के स्वामी मयंक बरनवाल आरोप है कि लोक निर्माण विभाग ने हम लोगों के साथ छलावा किया। पहले तो सड़क के बीच से आठ मीटर जगह लेने को कहा गया, जिसकी नोटिस भी हम लोगों को विभाग द्वारा दी थी। अब बिना किसी नोटिस के दस मीटर जगह लोहा के होने के बाद कर रहे हैं आज तो दस की बजाय हमारी पूरी मेडिकल स्टोर की दुकान वालों के लिए नहीं थी जेसीबी द्वारा तोड़ दिया गया मेरी दुकान में तो लाखों की दवाएं व फर्नीचर अन्य सारी चीजें भी दबकर नष्ट हो गई।

-लोक निर्माण के जेई सतीश कुमार ने बताया कि अपने विभाग की मकान से सीतापुर की तरफ 10 -10 मीटर तथा पुलिस चौकी से लखीमपुर की तरफ 9 -9 मीटर जागर मध्य से मुक्त कराई गई जो हमारे विभाग की जमीन है अगर अब भी कोई दुकान स्वामी अपनी जगह एक या दो मीटर देना चाहता है तो वह सहमति पत्र दे सकता है उसको सरकारी रेट के हिसाब से मुआवजा दिया जाएगा

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Gail JCB house-store destroyed in oil