Ever killed Nilgai, some goats took the tiger - कहीं नीलगाय को मारा, कहीं बकरियां ले गया बाघ DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कहीं नीलगाय को मारा, कहीं बकरियां ले गया बाघ

भीरा रेंज की बीट पडरिया तिलकापुर के गांव डिमरौल निवासी एक किसान के खेत में आई नील गाय पर बाघ ने हमला कर उसे गम्भीर रूप से घायल कर दिया। उधर भीरा इलाके में एक बाघ ने तीन बकरियों पर हमला करते हुए उन्हें मौत के घाट उतार दिया।

एक बकरी का शव को चराने गई महिला को मिल गया लेकिन दो बकरियों का कोई पता नही चल सका है। डिमरौल में सूचना पर सुबह पहुंची वन विभाग की टीम को बाघ व नील गाय के पगचिन्ह के साथ खून के लोथड़े भी मिले हैं। किसान सुधाकर शर्मा ने बताया कि जब वह सुबह खेत पर पहुंचे तो उन्हें तीन जगहों पर भारी मात्रा में खून दिखाई दिया। मामले की सूचना उन्होंने तुरंत वनरक्षक ओमकुमार सिंह को दी। सूचना मिलते ही वन रक्षक अपने अन्य साथियों के साथ मौके पर आ पहुंचे जहां उन्हें बाघ व नील गाय के पगचिंह मिले। उनके मुताबिक बाघ ने नील गाय पर हमला किया होगा जिसमें वह गम्भीर घायल हुई होगी। खेत में बाघ के होने की सूचना से ग्रामीणों में दहशत का माहौल है। उधर भीरा कस्बे के निवासी भगवानदीन की पत्नी तोखन अपनी करीब एक दर्जन बकरियों को चराने के लिये कस्बे से कुछ दूरी पर स्थित निर्माणाधीन मुक्तिधाम स्थल के पास ले गईं थीं।

महिला के मुताबिक कुछ समय के बाद उसे उसकी तीन बकरियां अचानक से गायब हो गईं। जब उसने बकरियों को तलाशना शुरु किया तो देखा कि उसकी एक बकरी का शव पड़ा हुआ है। पास जाने पर बकरी के शव पर बाघ के हमले के साफ निशान महिला व ग्रामीणों को दिखाई दिये। ग्रामीणों ने तुरंत मामले की सूचना प्रधानपति संजय शुक्ला को दी। सूचना मिलते ही प्रधानपति ने पूरे मामले से वन विभाग को अवगत कराया। कुछ समय के बाद वन विभाग की टीम मौके पर आ पहुंची और मुआयना किया। टीम व ग्रामीणों को बाघ के पगचिन्ह मिले हैं। महिला तोखन के अनुसार उसकी दो बकरियों को बाघ उठा ले गया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Ever killed Nilgai, some goats took the tiger