DA Image
6 अगस्त, 2020|6:21|IST

अगली स्टोरी

लॉक डाउन में दुधवा के गजराज भी ले रहे पकवानों का आनंद

लॉक डाउन में दुधवा के गजराज भी ले रहे पकवानों का आनंद

लॉक डाउन के दौरान जहां लोग घरों में रहकर रोजाना नये नये पकवानों का आनंद ले रहे हैं। वहीं दुधवा नेशनल पार्क के गजराजों का जलवा भी कम नहीं है। वर्क फ्रॉम होम में हाथियों की खुराकी कम नहीं की गई है। बल्कि मेन्यू थोड़ा बदल दिया गया है।दुधवा टाइगर रिजर्व के दुर्लभ वन्यजीवों व वन सम्पदा की रक्षा के लिये हुनरमंद हाथी भी पूरी शिद्दत से अपने कार्य में जुटे हुए हैं।

गैंडों की सुरक्षा की निगरानी हो या शिकारी या फिर वन माफियाओं की दस्तक वह प्राकृतिक पर हमला करने वाले सभी दुश्मनों पर गश्त के दौरान अपनी पैनी नजर बनाये हुए हैं। पार्क प्रशासन भी अपने इन गजराजों के खान पान का पूरा ख्याल रख रहा है।

यह है हाथियों के लिए मेन्यू

दुधवा के हुनरमंद हाथियों को सुबह एक किलो चावल, एक किलो आटा, चालिस ग्राम नमक, आधा किलो चना, सौ ग्राम सोयाबीन, आधा किलो अरहर की दाल।

खुराकी में यह और बढ़ा

लॉक डाउन में मेन्यू में कुछ नया जोड़ा गया है। वर्तमान सीजन के अनुसार पांच गन्ने व उनके पाचनतंत्र को मजबूत रखने के लिये एक किलो गुड़ भी साथ में परोसा जा रहा है।

ये है गजराजों की दिनचर्या और खान पान

हाथी एक दिन में करीब 100 से 150 किलो तक खाना खाता है। खास बात यह है कि वो उसका सिर्फ 35 फीसदी ही पचा पाता है। हाथी दिन भर में करीब 10 से 20 किलोमीटर चलते हैं और सोते सिर्फ 3 से 4 घंटे हैं। हाथी का वजन 5000 से 7000 किलोग्राम तक होता है।

हाथियों की डाइट बहुत महत्वपूर्ण होती है। उनको काम जितना भी दिया जाए, लेकिन भोजन में समझौता नहीं होना चाहिए। नया मेन्यू इसी हिसाब से तैयार किया गया है।

डॉ. बीआर निगम, पशु चिकित्साधिकारी

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Enjoy the dishes of Dudhwa 39 s Gajraj in lock down