DA Image
Tuesday, November 30, 2021
हमें फॉलो करें :

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ उत्तर प्रदेश लखीमपुरखीरी30 को हजारों छात्र-छात्राओं की शैक्षिक स्तर मूल्यांकन परीक्षा

30 को हजारों छात्र-छात्राओं की शैक्षिक स्तर मूल्यांकन परीक्षा

हिन्दुस्तान टीम,लखीमपुरखीरीNewswrap
Tue, 26 Oct 2021 03:20 AM
30 को हजारों छात्र-छात्राओं की शैक्षिक स्तर मूल्यांकन परीक्षा

लखीमपुर-खीरी।

बच्चों का शैक्षिक स्तर बढ़ाने के लिए डीआईओएस ओपी त्रिपाठी की पहल मिशन पहचान के तहत जिले के राजकीय व अशासकीय सहायता प्राप्त स्कूलों में बच्चों की कक्षा वार मूल्यांकन परीक्षा होगी। 30 अक्तूबर को होने वाली इस परीक्षा को लेकर डीआईओएस ने प्रधानाचार्यों के साथ बैठक की। परीक्षा को लेकर चर्चा की और दिशा निर्देश दिए।

डीआईओएस ओपी त्रिपाठी ने बताया कि मिशन पहचान के तहत 30 अक्तूबर को बच्चों के शैक्षिक स्तर का विद्यालय स्तरीय मूल्यांकन होगा। कक्षा छह, सात, आठ व नौ के बच्चों की 60 मिनट की परीक्षा सुबह 10 बजे से 11 बजे तक होगी। 12 बजे से एक बजे तक कक्षा 10, 11 व 12 के विद्यार्थियों की परीक्षा आयोजित की जाएगी। डीआईओएस ने बताया कि इस परीक्षा में कक्षा छह से इंटर तक सभी कक्षाओं के लिए अलग-अलग कुल 50 बहुविकल्पीय प्रश्न होंगे। ओएमआर सीट पर बच्चो को सही जवाब वाले गोला को पेन से भरना है। प्रत्येक प्रश्न दो अंक का रहेगा। हर कक्ष में एक शिक्षक की तैनाती परीक्षा के समय रहेगी। जहां शिक्षक कम हैं वहां नोडल अधिकारी पड़ोस के स्कूल के शिक्षकों को लगाएंगे। डीआईओएस ने बताया कि परीक्षा शुरू होने से एक घंटा पहले प्रधानाचार्य के बने व्हाट्सएप ग्रुप के जरिए प्रश्नपत्र उपलब्ध कराया जाएगा। नामित कक्षाध्यापक प्रश्नों को ब्लैकबोर्ड पर प्रश्न पत्र में अंकित क्रमानुसार जैसा है वैसा ही लिखेंगे। इसका उत्तर विद्यार्थी ओएमआर शीट पर प्रश्न के सम्मुख अंकित बहुविकल्पीय प्रश्न में से एक सही गोले को पेन से रंगते हुए उत्तर देंगे। परीक्षा समाप्त होने के आधे घण्टे बाद प्रश्न पत्रों के उत्तर व्हाट्सएप से विद्यालयों पर उपलब्ध कराए जाएंगे। इसके आधार पर कक्षाध्यापक मूल्यांकन करेगें। इसके बाद परीक्षार्थियों के नाम, कक्षा, प्राप्तांक के आधार पर टेबुलेशन चार्ट दो प्रतियों में तैयार होगा। इसकी एक प्रति उसी दिन सांय चार बजे तक सम्बन्धित ब्लाक के नोडल अधिकारी को उपलब्ध कराना जरूरी है। डीआईओएस ने बताया कि इसी मूल्यांकन के आधार पर ब्रिज कोर्स, उपचारात्मक कक्षाएं चलाई जाएंगी।

सब्सक्राइब करें हिन्दुस्तान का डेली न्यूज़लेटर

संबंधित खबरें