ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेश लखीमपुरखीरीआरोपियों की गिरफ्तारी की मांग को लेकर शव रखकर प्रदर्शन

आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग को लेकर शव रखकर प्रदर्शन

एक दिन पहले प्रेम प्रसंग में हुई हत्या के मामले में आरोपियों की गिरफ्तारी न होने से नाराज परिजनों ने शव रख कर जाम लगा...

आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग को लेकर शव रखकर प्रदर्शन
हिन्दुस्तान टीम,लखीमपुरखीरीThu, 30 May 2024 01:45 AM
ऐप पर पढ़ें

बेहजम। एक दिन पहले प्रेम प्रसंग में हुई हत्या के मामले में आरोपियों की गिरफ्तारी न होने से नाराज परिजनों ने शव रख कर जाम लगा दिया। उनकी मांग थी कि आरोपियों को गिरफ्तार किया जाए। जब तक गिरफ्तारी नहीं होती है, तब तक शव अंतिम संस्कार नहीं होगा। जाम की सूचना पर पहुंची पुलिस में परिजनों को समझा बुझा शांत कराया। शव को एक पिकअप में लादकर गांव भेज दिया गया। तब कही जाकर परिजनों ने शव का अंतिम संस्कार किया। पुलिस आरोपियों की तलाश में छापेमारी कर रही है।
नीमगांव थाना क्षेत्र के गांव मिर्जापुर में रहने वाले नागेश का पड़ोस की ही स्वजातीय युवती से प्रेम प्रसंग चल रहा था। मंगलवार की अलसुबह प्रेमिका के बुलाने पर नागेश उससे मिलने गया था। लेकिन उसे प्रेमिका के घर वालों ने पकड़ लिया। नागेश को बांधकर पीटा गया। घरवालों ने युवती की भी पिटाई की। किसी तरह नागेश के घर वालों को मामले की जानकारी हुई। वह युवती के घर पहुंचे लेकिन नागेश को आजाद नहीं करा पाए। परिजनों ने पुलिस को सूचना दी। सूचना पर पहुंची पुलिस में नागेश को प्रेमिका के घर से बाहर निकाला। लेकिन तब तक उसकी हालत ज्यादा खराब हो चुकी थी। पुलिस ने प्रेमी युगल को इलाज के लिए जिला अस्पताल में भर्ती कराया। जहां प्रेमी की मौत हो गई। मंगलवार की शाम पुलिस ने पोस्टमार्टम के बाद शव परिजनों के सुपुर्द कर दिया था। परिजन शव लेकर घर आ गए। रात में शव का अंतिम संस्कार नहीं किया। रात में ही त्रिभुवन, उसके बेटों लक्का, टुन्नू व एक अन्य राम चंदर के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया। लेकिन नीमगांव पुलिस आरोपियों को गिरफ्तारी नहीं कर पाई थी। इससे नाराज होकर परिजनों ने बुधवार की सुबह भी अंतिम संस्कार करने से मना कर दिया। गुस्साए परिजनों ने शव रखकर रोड जाम कर दिया। पुलिस के खिलाफ प्रदर्शन करने लगे। वह आरोपियों की गिरफ्तार करने की मांग कर रहे थे। सूचना पाकर सीओ मितौली, नीमगांव, मितौली और मैगलगंज पुलिस के साथ मौके पर पहुंचे। उन्होंने परिजनों को समझने का प्रयास किया। इंस्पेक्टर मितौली और मैगलगंज ने भी परिजनों को आश्वासन दिया कि जल्द ही आरोपियों की गिरफ्तारी होगी। तब कहीं जाकर परिजन माने और शव का अंतिम संस्कार किया।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।