DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   उत्तर प्रदेश  ›  लखीमपुरखीरी  ›  बच्चों को स्तनपान कराना बंद न करें कोरोना पॉजिटिव मां

लखीमपुरखीरीबच्चों को स्तनपान कराना बंद न करें कोरोना पॉजिटिव मां

हिन्दुस्तान टीम,लखीमपुरखीरीPublished By: Newswrap
Tue, 01 Jun 2021 03:31 AM
बच्चों को स्तनपान कराना बंद न करें कोरोना पॉजिटिव मां

लखीमपुर खीरी। कोरोना पॉजिटिव मां अपने बच्चों को स्तनपान कराना बंद न करें। क्योंकि मां के दूध से बच्चा पॉजिटिव नहीं होगा। बस उसको दूध पिलाते समय मां को मास्क लगाने और साफ-सफाई का विशेष ध्यान रखना है।

बाल रोग विशेषज्ञ डॉ. अंजनी मिश्रा ने बताया कि अगर कोई महिला कोरोना पॉजीटिव है, उसकी गोद में छह माह तक का बच्चा है तो उसका स्तनपान बंद नहीं करना है। क्योंकि यह अब साफ हो चुका है कि मां के दूध से बच्चे को कोरोना नहीं होगा। बल्कि इससे उसकी रोग प्रतिरोधी क्षमता बढ़ेगी। बस बच्चे को दूध पिलाते समय मां को मास्क लगाना और साफ-सफाई से संबंधित कुछ बातें ध्यान में रखनी होगी। बच्चे को दूध पिलाने से पहले और बाद में अच्छे से हाथ धोना है। अगर मां इतना ध्यान रखती है तो बच्चे को कोई खतरा नहीं है।

बच्चे के खानपान का रखें ध्यान

डॉ. अंजनी मिश्रा ने बताया कि अगर बच्चा छह माह से बड़ा है तो कोरोना कॉल में उसके खानपान का विशेष ध्यान रखें। बच्चे को ऐसे समय में हरी सब्जियां, हल्दी वाला दूध, फल, अदरख, अंडा और मछली दे सकते हैं। जिससे उसकी रोग प्रतिरोधी क्षमता बढ़ेगी। अगर फिर भी बच्चे को कोई दिक्कत है तो डॉक्टर से संपर्क करे। कुछ दवाएं है जिनको देने पर बच्चे स्वस्थ्य रहेंगे।

तीन साल से छोटे बच्चे को न लगाएं मास्क

डॉ. अंजनी मिश्रा ने बताया कि कोरोना कॉल में बच्चे को घर से बाहर लेकर न निकले और अगर कहीं जाना पड़ रहा है तो उसका विशेष ध्यान रखें। तीन साल से छोटे बच्चे को मास्क न लगाएं। सेनिटाइजर का प्रयोग करें और उसके आसपास साफ-सफाई का ध्यान रखें।

बच्चों को न करें आइसोलेट

डॉ. अंजनी मिश्रा ने बताया कि अगर कोई बच्चा कोरोना पॉजिटिव हो जाता है या मां बाप पॉजिटिव हो जाते हैं। घर में और कोई नहीं है। बच्चे की उम्र 12 वर्ष से कम है तो उसको घर में अकेले आइसोलेट न करें। उसका ध्यान रखें। माता-पिता खुद मास्क लगाएं। सैनिटाइजर का प्रयोग करें। बच्चे को भी मास्क लगाने के लिए दे। उससे मिलते जुलते रहे। इससे बच्चे को ज्यादा नुकसान नहीं होगा।

संबंधित खबरें