DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   उत्तर प्रदेश  ›  लखीमपुरखीरी  ›  बसपा नेता, कारोबारी मोहन वाजपेयी गिरफ्तार, जेल

लखीमपुरखीरीबसपा नेता, कारोबारी मोहन वाजपेयी गिरफ्तार, जेल

हिन्दुस्तान टीम,लखीमपुरखीरीPublished By: Newswrap
Tue, 01 Jun 2021 03:31 AM
दलित युवक की पिटाई में पुलिस ने बसपा नेता व शहर के बड़े ट्रांसपोर्ट कारोबारी मोहन बाजपेयी को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। उनके समेत तीन लोगों को...
1 / 2दलित युवक की पिटाई में पुलिस ने बसपा नेता व शहर के बड़े ट्रांसपोर्ट कारोबारी मोहन बाजपेयी को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। उनके समेत तीन लोगों को...
दलित युवक की पिटाई में पुलिस ने बसपा नेता व शहर के बड़े ट्रांसपोर्ट कारोबारी मोहन बाजपेयी को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। उनके समेत तीन लोगों को...
2 / 2दलित युवक की पिटाई में पुलिस ने बसपा नेता व शहर के बड़े ट्रांसपोर्ट कारोबारी मोहन बाजपेयी को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। उनके समेत तीन लोगों को...

लखीमपुर खीरी।

दलित युवक की पिटाई में पुलिस ने बसपा नेता व शहर के बड़े ट्रांसपोर्ट कारोबारी मोहन बाजपेयी को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। उनके समेत तीन लोगों को कोर्ट में पेश किया। जहां से कोर्ट ने मोहन बाजपेई समेत तीनों आरोपियों को जेल भेज दिया है।

बसपा नेता मोहन बाजपेयी पर एक सतीश नाम के युवक ने दो दिन पहले ही मुकदमा लिखाया था। उसने आरोप लगाया कि उसे काली स्कॉर्पियो से उठाकर बसपा नेता मोहन बाजपेयी के घर ले जाया गया। यहां उसके साथ मारपीट की गई। जिसमें उसको गंभीर चोटें आई। पुलिस ने सतीश की तहरीर पर बसपा नेता मोहन बाजपेयी समेत तीन लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया। मुकदमें में अपहरण, बलवा, मारपीट, गाली-गलौज और दलित एक्ट की धाराएं लगाई गई। मोहन एक दिन पहले ही पुलिस के सामने पेश हुए थे। सोमवार सुबह पुलिस ने मोहन का मेडिकल करवाया। मोहन के साथी जीतू राज और रामनरेश सुमन की भी गिरफ्तारी हुई है। पुलिस ने सोमवार की दोपहर तीनों को कोर्ट में पेश किया। जहां उनको जेल भेज दिया गया है।

जिला अस्पताल में हुआ हंगामा

पुलिस सोमवार की दोपहर बसपा नेता मोहन बाजपेयी को जिला अस्पताल ले गई थी। जहां उनका मेडिकल परीक्षण होना था। लेकिन यहां मोहन के समर्थक पहले से खड़े थे और वह पुलिस वालों के खिलाफ नारेबाजी करने लगे। यह देखकर मौके पर और फोर्स भेजी गई। पुलिस ने जिला अस्पताल में मोहन बाजपेयी का मेडिकल कराया और उनको कोतवाली ले आई। यहां कुछ देर तक और वह पुलिस की हिरासत में रहे। फिर पुलिस ने उनका चालान भेजा।

पीड़ित युवक जिला अस्पताल से डिस्चार्ज

पिटाई से घायल युवक सतीश को पुलिस ने मेडिकल परीक्षण के लिए जिला अस्पताल भेजा था। जहां डॉक्टरों ने उसे भर्ती कर लिया। जिला अस्पताल में चले इलाज के बाद उसको डिस्चार्ज कर दिया गया। लेकिन इसका इलाज अभी भी जारी है। पीड़ित ने खुद और अपने परिवार की जान का खतरा बताया है। उसका कहना है कि उसे सुरक्षा दी जाए।

नगर निकाय चुनाव से बढ़ा था सियासी कद

-बसपा नेता मोहन बाजपेयी की गिनती शहर के बड़े कारोबारियों में होती है। इस विवाद से पहले वह लोगों को ऑक्सीजन उपलब्ध करा रहे थे। उत्तराखंड से ऑक्सीजन लाकर मोहन यहां जरूरतमंदों को दे रहे थे। इससे पहले वह शहर में शिव बारात समेत कई के धार्मिक आयोजनों को कराते रहे। पिछले नगर पालिका चुनाव में वह बसपा के टिकट पर चुनाव लड़े और भाजपा की निरुपमा बाजपेयी से कुछ वोटों से चुनाव हार गए थे। इससे मोहन का सियासी कद तो बढ़ा, लेकिन विवादों से उनका पीछा कभी नहीं छूटा। इस बार उनका नाम विधानसभा चुनाव के संभावित उम्मीदवारों में था। पर अब यह विवाद भी सामने आ गया।

संबंधित खबरें