Ban on mobile carrying employees engaged in counting - मतगणना में लगे कर्मचारियों के मोबाइल ले जाने पर पाबंदी DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मतगणना में लगे कर्मचारियों के मोबाइल ले जाने पर पाबंदी

मतगणना में लगे कर्मचारियों के मोबाइल ले जाने पर पाबंदी

23 मई को होने वाली लोकसभा चुनाव की मतगणना में जो कर्मचारी लगाए गए हैं वह अपने साथ मोबाइल नहीं ले जा सकेंगे। अगर कोई कर्मचारी मोबाइल लेकर जाता है तो मतगणना स्थल के बाहर बनाए गए काउंटर पर मोबाइल जमा करा दिया जाएगा। मतगणना शांतिपूर्वक निष्पक्ष तरीके से कराने के लिए जिला निर्वाचन अधिकारी ने कर्मचारियों के मोबाइल ले जाने पर पूरी तरीके से रोक लगा दी है। जिला निर्वाचन अधिकारी ने स्पष्ट कहा है मतगणना के दौरान सभी कर्मचारियों का ध्यान मतगणना पर रहे इसलिए मोबाइल ले जाने पर प्रतिबंध रहेगा।

डीआईओ एनआईसी बृजेश कुमार ने बताया कि 23 मई की सुबह छह बजे कर्मचारी राजापुर मंडी पहुंच जाएं। उन्होंने बताया की मंडी पहुंचने पर ही उनको पता लगेगा कि किस काउंटर पर उनकी ड्यूटी लगी है। उन्होंने बताया कि मतगणना में लगाए गए कर्मचारी अपने साथ मोबाइल लेकर न आएं मोबाइल घरों पर ही रखकर आएं। उन्होंने बताया कि मतगणना की तैयारियां पूरी कर ली गई है। मतगणना के लिए 171 टेबल लगाई जा रही हैं। हर टेबल पर चार कर्मचारी होंगे। इसमें एक सुपरवाइजर, एक मतगणना सहायक, एक चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी और एक माइक्रोऑब्जर्वर रहेगा। उन्होंने बताया कि लगभग 700 कर्मचारी की ड्यूटी लगाई गई है। सभी की ड्यूटी स्लिप जारी हो गई है। मतगणना के साथ ही वीवीपैट की भी गिनती की जाएगी। इसके लिए अलग से टीम लगाई गई हैं।

बीस को सुविधा साफ्टवेर की ट्रेनिंग

डीआईओ एनआई सी बृजेश कुमार ने बताया कि 20 मई को दोपहर 11 बजे से सुविधा सॉफ्टवेयर को लेकर ट्रेनिंग दी जाएगी। इसमें बेसिक शिक्षा विभाग का स्टाफ रहेगा। इसके अलावा एक्सल शीट भरने की ट्रेनिंग भी इसी दिन दोपहर बारह बजे से दी जाएगी। यह दोनों ट्रेनिंग एनआईसी में होंगी। उन्होंने बताया कि शाम को चार बजे से वीवीपैट पर्चियों की गिनती की ट्रेनिंग दी जाएगी और पांच बजे से पोस्टल बैलट गिनती की ट्रेनिंग दी जाएगी। यह दोनों ट्रेनिंग कलेक्टर सभागार में होंगी।

दूसरा प्रशिक्षण 22 को

डीआईओ एनआई सी बृजेश कुमार ने बताया कि 22 मई को सेकंड रेंडमाइजेशन किया जाएगा। इसके बाद ड्यूटी स्लिप जारी होंगी। कर्मचारियों का दूसरा प्रशिक्षण इसी दिन होगा। एक बजे से तीन बजे तक कलेक्ट्रेट सभागार में होगा। इसमें मतगणना सुपरवाइजर शामिल होंगे इसके बाद मतगणना सहायक व चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों की ट्रेनिंग होगी। इसी दिन जिला पंचायत सभागार में माइक्रो आब्जर्बरों को ट्रेनिंग दी जाएगी। ट्रेनिंग में सभी को भाग लेना जरूरी है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Ban on mobile carrying employees engaged in counting