DA Image
18 अप्रैल, 2021|10:56|IST

अगली स्टोरी

विधायक को गोली मारने वाला गिरफ्तार, पूछताछ में बताई गोली मारने की ये वजह

विधायक को गोली मारने वाला गिरफ्तार, पूछताछ में बताई गोली मारने की ये वजह

1 / 5होली के दिन भाजपा से सदर विधायक योगेश वर्मा पर हुए कातिलाना हमले से पूरे शहर में तनाव के हालात हैं। घटना को लेकर समर्थकों में आक्रोश...

विधायक को गोली मारने वाला गिरफ्तार, पूछताछ में बताई गोली मारने की ये वजह

2 / 5होली के दिन भाजपा से सदर विधायक योगेश वर्मा पर हुए कातिलाना हमले से पूरे शहर में तनाव के हालात हैं। घटना को लेकर समर्थकों में आक्रोश...

विधायक को गोली मारने वाला गिरफ्तार, पूछताछ में बताई गोली मारने की ये वजह

3 / 5होली के दिन भाजपा से सदर विधायक योगेश वर्मा पर हुए कातिलाना हमले से पूरे शहर में तनाव के हालात हैं। घटना को लेकर समर्थकों में आक्रोश...

विधायक को गोली मारने वाला गिरफ्तार, पूछताछ में बताई गोली मारने की ये वजह

4 / 5होली के दिन भाजपा से सदर विधायक योगेश वर्मा पर हुए कातिलाना हमले से पूरे शहर में तनाव के हालात हैं। घटना को लेकर समर्थकों में आक्रोश...

विधायक को गोली मारने वाला गिरफ्तार, पूछताछ में बताई गोली मारने की ये वजह

5 / 5होली के दिन भाजपा से सदर विधायक योगेश वर्मा पर हुए कातिलाना हमले से पूरे शहर में तनाव के हालात हैं। घटना को लेकर समर्थकों में आक्रोश...

PreviousNext

होली के दिन भाजपा से सदर विधायक योगेश वर्मा पर हुए कातिलाना हमले से पूरे शहर में तनाव के हालात हैं। घटना को लेकर समर्थकों में आक्रोश है। सुरक्षा व्यवस्था को देखते हुए कई जगहों पर पुलिस फोर्स तैनात कर दी गई है। उधर विधायक की हालत खतरे से बाहर बताई जा रही है। शुक्रवार को विधायक को तुलसी हॉस्पिटल से छुट्टी दे दी गई है। इधर पुलिस की टीमें आरोपियों की तलाश में जुटी हुई है। पुलिस ने आरोपी पिंकी सक्सेना उर्फ पिंकू को गिरफ्तार कर लिया गया है। पुलिस ने उसे जेल भेज दिया है। जबकि अभी प्रेम वर्मा और नसीम फरार हैं। उनकी तलाश में छापेमारी जारी है। सदर विधायक योगेश वर्मा होली के दिन रंग खेल कर अपने कार्यालय से घर जा रहे थे। रास्ते में गुरुनानक इंटर कॉलेज के पास उनके ऊपर खनन माफिया प्रेम वर्मा, पिंकी सक्सेना और नसीम ने जानलेवा हमला कर दिया। हमलावरों ने विधायक के दाहिने पैर में गोली मारी और फरार हो गए।

घायल विधायक को शहर के तुलसी हॉस्पिटल में ले जाया गया। शुक्रवार को विधायक को तुलसी हॉस्पिटल से छुट्टी दे दी गई। विधायक पर हुए हमले से पूरे शहर में दहशत का माहौल है। घटना को लेकर विधायक के समर्थकों में आक्रोष है। सुरक्षा व्यवस्था को देखते हुए जगह जगह पुलिस फोर्स तैनात किया गया है। डीएम शैलेंद्र कुमार सिंह एसपी पूनम गुरुवार की शाम तक भारी पुलिस फोर्स के साथ तुलसी हॉस्पिटल में खड़े रहे। आईजी जोन एसके भगत ने हॉस्पिटल आकर विधायक से बात की और उनसे घटना की जानकारी हासिल की। विधायक के भाई सिद्धेश वर्मा ने तीनों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया है।

तहरीर में कहा गया है कि विधायक ने अवैध खनन के खिलाफ अभियान छेड़ रखा था। इसीलिए प्रेम वर्मा विधायक से रंजिश मानते थे। इसी रंजिश में विधायक पर हमला किया गया। प्रशासन ने भी इस घटना को गंभीरता से लिया और आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए तीन टीमों का गठन किया। तीनों टीमों ने आरोपियों की तलाश में छापेमारी शुरू कर दी। रात भर चली छापेमारी के बाद पुलिस ने आरोपी पिंकी सक्सेना उर्फ पिंकू को गिरफ्तार कर लिया। उसे शुक्रवार को जेल भेज दिया गया। आरोपी प्रेम वर्मा और नसीम अभी भी फरार हैं। उनकी तलाश में छापेमारी की जा रही है। लेकिन अभी तक उनकी गिरफ्तारी नहीं हो सकी है। एसपी पूनम ने बताया कि जल्द ही उनको भी गिरफ्तार कर जेल भेजा जाएगा।

भाग खड़ा हुआ गनर मोहित, सस्पेंड

बताया जाता है कि जिस समय विधायक योगेश वर्मा पर कातिलाना हमला हुआ, उस समय गनर मोहित उनके साथ मौजूद था। हमलावरों ने जैसे ही विधायक को गोली मारी वैसे ही गनर मोहित मौके से भाग खड़ा हुआ। घटना को अंजाम देकर आरोपी मौके से फरार हो गए तो गनर फिर वापस आया और मामले की जानकारी विधायक के करीबियों को दी। सूचना पाकर सभी मौके पर पहुंच गए। विधायक घायल अवस्था में जमीन पर पड़े थे। उनको अस्पताल ले जाया गया। जहां उनका इलाज शुरू हुआ। एसपी पूनम ने गनर मोहित को सस्पेंड कर दिया है। उसके खिलाफ विभागीय जांच के भी आदेश दिए गए हैं। एसपी ने बताया कि जांच के बाद गनर के खिलाफ विभागीय कार्रवाई होगी।

पहले भी प्रेम के खिलाफ मुकदमा दर्ज करवा चुके विधायक

करीब डेढ़ साल पहले विधायक ने खनन कारोबारी प्रेम वर्मा के खिलाफ कोतवाली सदर में जानलेवा हमले का मुकदमा दर्ज कराया था। इसमें विधायक का आरोप था कि वह बालू की ट्राली चेक करने गए थे। वहां उनको रौंदकर मारने की कोशिश की गई। पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर लिया था। पुलिस प्रेम वर्मा को पकड़कर कोतवाली भी लाई थी। लेकिन बाद में उन्हें छोड़ दिया गया। इससे नाराज होकर विधायक ने कोतवाली में धरना दिया था। डीएम एसपी के समझाने के बाद विधायक मान गए थे। बाद में इस मुकदमे में क्या हुआ। इसकी जानकारी जिम्मेदार नहीं दे पा रहे हैं।

हमले के आरोपी पर फूटा गुस्सा

बताया जाता है कि विधायक पर हुए कातिलाना हमले से नाराज होकर उनके समर्थकों ने आरोपी पिंकू के घर में धावा बोल दिया। समर्थक ने आरोपी के घर में घुस कर तोड़फोड़ की। उस समय आरोपी अपने घर पर नहीं था। समर्थक बाद में वापस लौट गए। ये जानकारी पिंकी की पत्नी ने फेसबुक पर डाली है और डीएम को प्रार्थना पत्र दिया है। डीएम को दिए गए प्रार्थना पत्र में पिंकी की पत्नी ने विधायक और उनके समर्थकों पर कई संगीन आरोप लगाए हैं। डीएम ने पूरे मामले में जांच करवाने का आश्वासन दिया है।

आईजी जोन ने दिया 24 घंटे का अल्टीमेटम

आईजी जोन एसके भगत ने आरोपियों को गिरफ्तार करने के लिए कोतवाली पुलिस को 24 घंटे का अल्टीमेटम दिया था। आईजी ने कहा कि अगर 24 घंटे में आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं हुई तो जिम्मेदारों के खिलाफ कार्रवाई होगी। पुलिस ने 24 घंटे के अंदर एक आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। बाकी आरोपियों की तलाश जारी है।

सीएम ने फोन कर ली घटना की जानकारी

सीएम योगी आदित्यनाथ ने फोन कर विधायक पर हुए हमले के बारे में जानकारी ली। विधायक के छोटे भाई सिद्धेश वर्मा ने सीएम योगी आदित्यनाथ से बात की और पूरे मामले से उनको अवगत कराया। उन्होंने बताया कि विधायक पर हमला खनन माफियाओं ने किया है। बताया जाता है कि सीएम ने पूरे मामले में कड़ी कार्रवाई करने का आश्वासन दिया है।

शहर में मजाक बन गई कानून व्यवस्था

होली के दिन शहर में कानून व्यवस्था मजाक बन गई। सिलसिलेवार तरीके से दो तीन ऐसी घटनाएं हुईं जिससे लगा कि शहर में कानून व्यवस्था नाम की कोई चीज ही नहीं रह गई है। किसी को किसी का डर नहीं रह गया है। यह तो गनीमत रही कि इन घटनाओं से शहर का माहौल नहीं बिगड़ा और हालात प्रशासन के काबू में रहे।होली के पहले ही डीजीपी ने लखीमपुर खीरी को संवेदनशील श्रेणी में रखा था। लेकिन फिर भी कोतवाली पुलिस ने इसको गंभीरता से नहीं लिया। होली के दिन शहर में कहीं भी पुलिस नजर नहीं आई। इसका खामियाजा यह रहा कि पहले सुबह दिनदहाड़े मामूली विवाद में युवक को गोली मार दी गई। जिससे उसकी मौत हो गई। इसके बाद जिला अस्पताल में बेखौफ होकर हवाई फायरिंग हुई। जिससे डॉक्टर और तीमारदार भाग खड़े हुए। उसके बाद दिनदहाड़े विधायक पर कातिलाना हमला हुआ। जिससे पूरा शहर दहशत में आ गया। लेकिन फिर भी अभी तक जिम्मेदारों पर कोई कार्रवाई नहीं हुई है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Arrest MLA shot dead in Lakhimpur kheri