DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

शिक्षा से वंचित न रहने पाए कोई भी बच्चा

शिक्षा से वंचित न रहने पाए कोई भी बच्चा

1 / 2अदलीशपुर न्याय पंचायत के प्राथमिक स्कूल कुमेहना में बुधवार को शैक्षिक संगोष्ठी का आयोजन किया गया। इस मौके पर बच्चों को किताबें, जूता मोजा बांटे...

शिक्षा से वंचित न रहने पाए कोई भी बच्चा

2 / 2अदलीशपुर न्याय पंचायत के प्राथमिक स्कूल कुमेहना में बुधवार को शैक्षिक संगोष्ठी का आयोजन किया गया। इस मौके पर बच्चों को किताबें, जूता मोजा बांटे...

PreviousNext

अदलीशपुर न्याय पंचायत के प्राथमिक स्कूल कुमेहना में बुधवार को शैक्षिक संगोष्ठी का आयोजन किया गया। इस मौके पर बच्चों को किताबें, जूता मोजा बांटे गए। साथ ही पौधरोपण भी किया गया। कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि धौरहरा विधायक मौजूद रहे। कार्यक्रम की शुरुआत मां सरस्वती की पूजा अर्चना से हुई। अदलीशपुर न्यायपंचायत के शिक्षकों ने अतिथियों का बैच अलंकरण कर स्वागत किया गया। राममिश्र ने अतिथियो के स्वागत में स्वागत गीत गाया। खंड शिक्षा अधिकारी उपेन्द्र सिंह ने बताया कि सरकार की प्राथमिकता है कि कोई भी बच्चा शिक्षा से वंचित न रहे। शिक्षा का स्तर ऊपर उठाने के लिए लगातार प्रयास किए जा रहे हैं।

शिक्षक नियमित रूप से समय पर स्कूल पहुंचें और शिक्षण कार्य करें। विधायक बाला प्रसाद ने अभिभावकों से अपील की कि वह अपने बच्चों को नियमित रूप से स्कूल जरूर भेजें। बच्चे शिक्षित होंगे तो देश का विकास होगा। बच्चों का भविष्य उज्जवल होगा। कार्यक्रम को मंत्री सौरभ मिश्र, सोनी सिन्हा, लालता प्रसाद बाजपेयी ने सम्बोधित किया। प्राथमिक शिक्षक संघ के संरक्षक राकेश त्रिवेदी ने सभी शिक्षकों को डायरी देकर सम्मानित किया। बीईओ ने कहा सरकार द्वारा चलायी जा रही योजनाओ व शिक्षको की मेहनत से निश्चित रूप से शैक्षणिक गुणवत्ता, छात्रों का ठहराव बढ़ा है। उन्होंने कहा कि उत्कृष्ट कार्य करने वाले शिक्षको को पुरस्कृत किया जाएगा। इस दौरान प्राथमिक शिक्षक संघ के अध्यक्ष अध्यक्ष रमेशचन्द्र श्रीवास्तव, उच्च प्राथमिक शिक्षक संघ अध्यक्ष युवराज शर्मा, शिववंश लाल मिश्र, जावेद अहमद, प्रियावर्त श्रीवास्तव, राकेश त्रिवेदी, योगेन्द्र मिश्र, अपनेश चन्द्र वर्मा सहित अन्य लोग मौजूद रहे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Any child not to be deprived of education